class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यसभा उपचुनाव में बसपा की ओर से राजपूत और पाल का नामांकन दाखिल

राज्यसभा की रिक्त दो सीटों के उपचुनाव के लिए बुधवार को यहाँ बहुजन समाज पार्टी की ओर से गंगा चरण राजपूत और श्रीराम पाल ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। नामांकन पत्रों की जाँच गुरूवार को होगी और 13 जून को नामांकन पत्रों की वापसी का दिन है।

विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे ने कहा कि चँकि किसी और प्रत्याशी ने नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया है लिहाजा नाम वापसी के अंतिम दिन 13 जून को ही दोनों प्रत्याशियों के निर्विरोध निर्वाचित होने की घोषणा कर दी जाएगी। 

बसपा के दोनों प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दो सेट में दाखिल किए हैं। दोनों नामांकन के साथ दस-दस प्रस्तावक हैं।  भाजपा के मुरली मनोहर जोशी के वाराणसी सीट से लोकसभा के लिए चुने जाने तथा सपा के बनवारी लाल कंछल के बसपा में शामिल होने के कारण दोनों सीटें रिक्त हुई हैं।

श्री कंछल ने सपा से त्यागपत्र देने के साथ ही राज्यसभा से भी इस्तीफा दे दिया था। बसपा ने उन्हें वापस राज्यसभा नहीं भेजा। इस संबंध में बुधवार को बनवारी लाल कंछल का एक लिखित अनुरोध पत्र मीडिया को वितरित किया गया जिसमें कंछल ने बसपा मुखिया मायावती से राज्यसभा न भेजकर प्रदेश में व्यापारियों से संबंधित कोई जिम्मेदारी देने की बात कही है। 

 श्री राजपूत ने व्यापारी नेता बनवारी लाल कंछल तथा श्रीपाल ने श्री जोशी के त्यागपत्र देने से रिक्त हुई सीट से नामांकन पत्र भरा। श्री राजपूत की सीट का कार्यकाल अप्रैल 2012 को तथा श्री पाल की सीट का कार्यकाल जुलाई 2010 को खत्म हो रहा है। वह लोकसभा चुनाव के दौरान ही बसपा में शामिल हुए थे और पीलीभीत सीट से चुनाव हार गए थे।

श्रीराम पाल बसपा के बुन्देलखण्ड के प्रभारी भी हैं। नामांकन पत्र दाखिल किए जाने के समय काबीना मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, बाबू सिंह कुशवाहा, लालजी वर्मा और रामअचल राजभर मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्यसभा चुनाव के लिए बसपा प्रत्याशियों को नामांकन