class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांसद पद्मसिंह पाटिल राकांपा से निलंबित

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने महाराष्ट्र से पार्टी सांसद डॉ पद्मसिंह पाटिल को बुधवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया। डॉ पाटिल को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने विगत दिनों पवन राजे निंबालकर हत्याकांड में गिरफतार किया था।

राकांपा की केन्द्रीय अनुशासन समिति की बुधवार को शाम नई दिल्ली में पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय में हुई बैठक में डॉ पाटिल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित करने का फैसला किया गया। अनुशासन समिति के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने बैठक के बाद डॉ पाटिल के निलंबन की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि डॉ पाटिल का मामला पूरी तरह से उनका व्यक्तिगत है और इसका पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। पार्टी इस मामले से अपने को अलग करती है।

पटेल ने कहा कि अनुशासन समिति की बैठक में उनके अतिरिक्त राज्यसभा सांसद तारिक अनवर, महासचिव डीपी त्रिपाठी तथा पार्टी के स्थाई सचिव एसआर कोहली शामिल थे।

उन्होंने कहा कि डॉ पाटिल के मामले में कानून अपना काम करेगा लेकिन पार्टी यह मानती है कि सार्वजनिक जीवन में उच्च आदर्श को बनाए रखा जाना चाहिए और इसी उद्देश्य से पार्टी ने डॉ पाटिल को पार्टी से निलंबित करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में अदालत का फैसला आने तक उन्हें निलंबित किया गया है और यदि अदालत उन्हें दोषी साबित करती है तो डॉ पाटिल को पार्टी से निष्कासित भी किया जा सकता है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अगर अदालत पाटिल को बरी करती है तो उनका निलंबन रद्द भी कर दिया जाएगा।

पटेल ने कहा कि डॉ पाटिल की लोकसभा की सदस्यता बनी रहेगी और पार्टी ने सार्वजनिक जीवन में उच्च आदर्श को बनाए रखने के उद्देश्य से उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की है। चूंकि यह डॉ पाटिल का पूरी तरह से व्यक्तिगत मामला है इसलिए पार्टी इस मामले से खुद को असम्बध्द करती है।

राकांपा महासचिव पटेल ने कांग्रेस के साथ उनकी पार्टी के विलय की संभावनाओं से पूरी तरह इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के साथ उनकी पार्टी के बहुत अच्छे और सौहार्दपूर्ण संबंध है तथा उनकी पार्टी पिछले पांच वर्षों से कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार में शामिल है।

उन्होंने कहा कि हम महाराष्ट्र में पिछले दस वर्ष से कांग्रेस के साथ सरकार चला रहे हैं। वर्ष 2004 और 2009 में कांग्रेस और राकांपा ने संयुक्त रूप से चुनाव लड़ा है। आने वाले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव भी कांग्रेस के साथ संयुक्त रूप से लडेंगे।

यह पूछे जाने पर कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख कांग्रेस के अपने बलबूते पर चुनाव लड़ने की वकालत कर रहे है।  पटेल ने कहा कि कांग्रेस की ओर से इस मसले पर अभी तक किसी आधिकारिक फैसले की उन्हे कोई जानकारी नही दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सांसद पद्मसिंह पाटिल राकांपा से निलंबित