class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्शा पास नहीं तो चौगुनी फीस

बगैर रिवाइज नक्शा पास कराए प्लॉटों पर निर्माण करने वालों के लिए प्रशासन कंपोजीशन फीस को चार गुना बढ़ाने पर विचार कर रहा है। चंडीगढ़ में लागू कैपिटल ऑफ पंजाब रेगुलेशन एंड डवलेपमेंट एक्ट 1952 के तहत अलग-अलग पेनाल्टीज को भी नए सिरे से तय किया जा रहा है। कई सालों के बाद पहली बार इन फीसों को बढ़ाने पर पुनर्विचार किया जा रहा है।


सूत्रों का कहना है कि इन शुल्कों को बढ़ाने का प्रस्ताव एस्टेट आफिस ने तैयार कर लिया है जिस पर फाइनेंस डिपार्टमेंट को फैसला करना है। कई सालों से फीस कम होने से न सिर्फ प्रशासन को नुकसान हो रहा था बल्कि लोग भी इनकी परवाह नहीं करते हैं। प्रस्ताव के अनुसार कंपोजीशन फीस को 5 रुपए प्रति स्कवायर फीट से बढ़ाकर 20 रुपए प्रति स्कवायर फीट किया जाएगा। यह फीस उस समय ली जाती है जब कोई बगैर रिवाइज बिल्डिंग प्लान को पास कराए ही  प्लॉट पर अतिरिक्त निर्माण कर लेता है। रेजिडेंशियल, कमर्शियल व इंस्टीट्यूशन व रिलिजियस  सभी के लिए यह फीस बढ़ाने का प्रस्ताव है। यदि कोई पूरी बिल्डिंग को बगैर नक्शा पास कराए ही पास बना लेता है तो उस स्थिति में पेनाल्टीज  को छह गुना करने का प्रस्ताव है।

रेजिडेंशियल प्लॉट के लिए यह फीस 10 रुपए प्रति स्कवायर फीट के बजए 60 रुपए प्रति स्कवायर फीट, कमर्शियल के लिए 30 रुपए प्रति स्कवायर फीट के बजाए 180 व इंस्टीट्यूशनल, इंडस्ट्रियल व रिलीजिशयस प्लाटों के लिए 20 रुपए से बढ़ाकर 120 रुपए करने का प्रस्ताव है। प्लॉट पर नींव भरने के बाद यदि कोई डीपीसी की जानकारी बिल्डिंग ब्रांच को नहीं देता है तो उसके लिए भी जुर्माना बढ़ाया जा रहा है।

10 मरला तक के लिए यह 2500 रुपए से बढ़ाकर अब 5000 रुपए, 10 मरला से ज्यादा प्लाटों के लिए 5000 रुपए से बढ़ाकर 10,000 रुपए, इंडस्ट्रियल प्लॉटों के लिए 10,000 रुपए से बढ़ाकर 20 हजर रुपए किया जा रहा है। अवैध रुप से सीवरेज कनेक्शन लेने वालों पर पेनाल्टीज को दोगुना किया जा रहा है।  रिहायशी, कमर्शियल व इंडस्ट्रियल प्लाटों के लिए मौजूदा रेट दोगुने देने होंगे। मध्यमार्ग पर सब डिवीजन ऑफ शॉप्स व नॉन स्टैंडर्ड ऑफ गेट के लिए भी रेट बढ़ाए जा रहे हैं, जबकि कई फीस ऐसी भी हैं जिनके रेट ज्यों के त्यों रखे गए हैं।


अतिरिक्त एफएआर के लिए मौजूदा रेट
16 अक्तूबर 2008 को जारी नोटिफिकेशन के अनुसार अतिरिक्त एफएआर के लिए  मौजूदा रेट ही लेने पर विचार किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्शा पास नहीं तो चौगुनी फीस