class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उर्जा संरक्षण

ऊर्जा बचाने के कई उपाय हैं। इसकी शुरुआत बहुत ही बुनियादी तरीकों से की जा सकती है जिसमें निजी वाहन के स्थान पर लोक परिवहन का इस्तेमाल या कार पूलिंग जसे तरीके शामिल हैं। यात्रा पर जाते समय भी ऐसी प्लानिंग करें कि आपको बिना मतलब भटकना न पड़े। इसके साथ ही कई परिवर्तन अपने घर में भी लाए जा सकते हैं। ऊर्जा संरक्षण की दिशा में ऐसे उपकरण इस्तेमाल में लाए जा सकते हैं जो इस काम में सहायक साबित होते हैं। घर को गर्म या ठंडा रखने के लिए भी कई ऐसे उपकरण इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है जो पर्यावरण की दृष्टि से सहायक होते हैं जसे घर की खिड़कियों, दरवाजों को पर्दो से और फर्श को कालीन से ढंक कर रखना।


कुछ अन्य सुझाव इस प्रकार हैं - रेफ्रिजरेटर के तापमान को 2.78 डिग्री सेल्सियस तक रखना, कपड़े ठंडे या गर्म पानी में धोना, हीटर को 48.89 डिग्री सेल्सियस तक रखना। गर्मियों के मौसम में यदि आप एयरकंडीशनर का इस्तेमाल करते हैं तो उसका तापमान 25.56 डिग्री सेल्सियस तक रखें। अगर अधिक गर्मी नहीं है तो उसे और धीमा रखा ज सकता है। ऊज्र की संतुलित खपत करने वाले पंखे भी आपके घर में ऊर्जा की बचत कर सकते हैं।
घर में प्रकाश व्यवस्था में मामूली फेरबदल के माध्यम से भी ऊर्जा संरक्षण किया ज सकता है। आम बल्ब के स्थान पर फ्लोरेसेंट बल्बों का उपयोग सार्थक होता है। बिजली उपकरणों को उस समय बंद कर दीजिए जब उनका इस्तेमाल न हो। यह सब बेहद आम तरीके हैं जिनसे ऊर्जा संरक्षण किया ज सकता है। इस दिशा में आप अपने परिवार को भी प्रोत्साहित कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उर्जा संरक्षण