class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

25 जून तक तापमान की यही स्थिति : प्रो. रामचन्द्र पाठक

‘रोहिणी बरसे मृग तपै, आद्र्रा कछु-कछु जय, घाघ कहें सुन घाघनी, श्वान भात नहिं खाय।’ अगर रोहिणी नक्षत्र के समय थोड़ी बरसात हो जाए। मृगशिरा नक्षत्र के समय सूर्य पूरा और आद्र्रा नक्षत्र के समय थोड़ा तपे, तो अच्छी बरसात होती है। अभी रोहिणी नक्षत्र बीता है, मृगशिरा नक्षत्र 8 जून से शुरू हुआ है। 22 जून को सूर्य आद्र्रा नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। ऐसी स्थिति में जून के तीसरे सप्ताह के बाद से बरसात होने का योग है।

काशी के ज्योतिषियों का मानना है कि इस साल कहीं अधिक, तो कहीं कम बरसात होगी। बारिश के बाद तापमान की स्थिति सामान्य हो जएगी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय विश्व पंचांग के संपादक प्रो. रामचन्द्र पाठक का कहना है कि इस साल कहीं बरसात होगी, कहीं नहीं होगी। 25 जून के बाद बरसात का योग है। देश के पूर्वी भागों के अलावा सीमावर्ती राज्यों व दक्षिण में वर्षा अधिक होगी, जबकि तीन राज्यों यूपी, बिहार व मध्य प्रदेश में कहीं अधिक, तो कहीं कम वर्षा होगी।

कहीं सूखे का प्रकोप भी रहेगा। शनि व मंगल के द्वि-द्वादश संबंध होने के कारण 25 जून तक तापमान की यही स्थिति बनी रहेगी। ज्योतिषी तपन कुमार पंडा के मुताबिक इस साल बरसात छिटपुट होगी। इस संवत्सर में कुल 75 दिन ही बरसात होगी। कभी एक घंटा, तो कभी 10-20 मिनट बरसात होगी। सावन-भादों व आश्विन तीन माह में विशेष बारिश होगी। 19 जून के बाद जसे ही पृथ्वी शुद्ध हो जएगी, मानसून का आगमन व वृष्टि की शुरुआत हो जएगी। 15 जून तक तापमान की यही स्थिति रहेगी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय विश्व पंचांग के प्रो. चन्द्रमा पांडेय की मानें, तो 12 जून को हल्की और 17 जून से बरसात शुरू होगी। इससे तापमान में कमी आएगी।

12 जून के बाद आसमान में फैला प्रदूषण खत्म हो जएगा। इस साल कहीं अधिक, तो कहीं कम बरसात होगी। बाढ़ से देश के कई भूभाग प्रभावित होंगे। इस साल बरसात की शुरुआत और समाप्ति पहले होगी। आचार्य वेदप्रकाश मिÞा की मानें, तो 15 जून से बरसात की संभावना है।

इस वर्ष संवत्सर के राज शुक्र व मंत्री चन्द्र हैं, जिसके अनुसार अच्छी वर्षा होने के  संकेत हैं। लेकिन अन्य ग्रहों के संचरण को देखते हुए यह कहा सकता है कि कहीं वर्षा अच्छी, तो कहीं कम होगी। तापमान की स्थिति जून माह तक इसी तरह बनी रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जून के तीसरे हफ्ते से बारिश का योग