class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र ने चार प्रोजेक्टों को दी मंजूरी

केंद्र सरकार ने चंडीगढ़ प्रशासन के चार प्रोजेक्टों को शुरू करने की अनुमति दे दी है। लेकिन दिलचस्प बात यह है कि इनमें से तीन प्रोजेक्टों पर तो काम भी पूरा हो गया है जबकि एक प्रोजेक्ट हवा में हैं। प्लेनेटेरियम के जिस प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए मंजूरी दी गई है वह प्रशासन के आधिकारिक रिकार्ड में भी मौजूद नहीं था। केद्र सरकार की रोक के बावजूद कई प्रोजेक्टों पर प्रशासन ने काम भी शुरू किया।

प्रशासन ने अर्बन आर्ट कमीशन के गठन के सिलसिले में जिन प्रोजेक्टों की सूची केंद्र सरकार को भेजी थी उनमे से कई तो अमल में ही नहीं लाए गए थे। केंद्र ने इन्हें इसलिए रोक दिया था क्योंकि उस समय अर्बन आर्ट कमीशन को बनाने का प्रस्ताव था। 


प्रशासक के सलाहकार प्रदीप मेहरा को गृह मंत्रालय के डिप्टी डायरेक्टर एमएल वर्मा की चिट्ठी में कहा गया है कि प्रशासन को उन प्रोजेक्टों को शुरू करने की अनुमति दी जाती है जो कि सेक्टरोरियल ग्रिड के अंदर पड़ते हैं। इनमें केक्टस गार्डन, बेअंत सिंह मेमोरियल व चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड के प्रोजेक्ट शामिल हैं। बेअंत सिंह मेमोरियल का प्रोजेक्ट पूरा हो गया है। और उसका उद्घाटन  भी करा दिया गया था। सेक्टर 63 में हाउसिंग प्रोजेक्ट ठीक योजना भी पूरी हो गई है जिसके लिए आवंटन भी कर दिया गया है। यह प्रोजेक्ट कभी भी रोका नहीं गया जैसा कि गृह मंत्रालय की चिट्ठी में कहा गया है। 

प्लेटेनेरियम का प्रोजेक्ट सितंबर 1996 में शुरू किया गया था लेकिन यह लगभग खत्म हो गया था।  केक्टस गार्डन को अब बैंबू वली गार्डन कहा जाता है जिसे की पिछले साल ही विकसित कर दिया गया था।  जबकि इसे सूची में रोका गया प्रोजेक्ट बताया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केंद्र ने चार प्रोजेक्टों को दी मंजूरी