class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल को नजरअंदाज करना भी महंगा पड़ा आस्ट्रेलिया को

आईपीएल को नजरअंदाज करना भी महंगा पड़ा आस्ट्रेलिया को

आस्ट्रेलिया ने यदि अपने पूर्व कोच जान बुकानन की मैथ्यू हेडन, एडम गिलक्रिस्ट और शेन वार्न जैसे 'बूढ़े शेरों' को टवेंटी20 वर्ल्ड कप की टीम में रखने की सलाह को गंभीरता से लिया होता तो शायद वह इस टूर्नामेंट के पहले दौर में बाहर होने से बच जाता।

हेडन, गिलक्रिस्ट और वार्न ने हाल में दक्षिण अफ्रीका में खेले गये इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपनी विशिष्ट छाप छोड़ी थी लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के कारण आस्ट्रेलिया ने इनके नाम पर विचार नहीं किया।

यही नहीं आस्ट्रेलिया को अपने चोटी के खिलाड़ियों को आईपीएल में नहीं भेजने और इसमें बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले क्रिकेटरों को नजरअंदाज करने का खामियाज भी भुगतना पड़ा तथा टेस्ट और एकदिवसीय की नंबर एक टीम वेस्टइंडीज और श्रीलंका से पराजित होकर दूसरे चरण में पहुंचने में असफल रही।

कप्तान रिकी पोंटिंग, उप कप्तान माइकल क्लार्क, शेन वाटसन, मिशेल जनसन सहित आस्ट्रेलिया की टवेंटी20 टीम में शामिल 11 खिलाड़ियों ने इस बार के आईपीएल में कोई मैच नहीं खेला था। ब्रेट ली, डेविड हसी और डेविड वार्नर भी कुछ मैचों में ही खेल पाये थे। एंड्रयू साइमंडस ने डेक्कन चाजर्स की तरफ से आठ मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया था लेकिन आस्ट्रेलिया ने अनुशासनात्मक कारणों से टवेंटी20 चैंपियनशिप से पहले उन्हें स्वदेश भेज दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल को नजरअंदाज करना भी महंगा पड़ा आस्ट्रेलिया को