class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंद होंगे भारतीयों पर नस्ली हमले : मनमोहन

बंद होंगे भारतीयों पर नस्ली हमले : मनमोहन

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर हो रहे हमले पर प्रधानमंत्री ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि उन्हें ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि भारतीय छात्रों के खिलाफ  किसी भी नस्ली हमले से कड़ाई से निपटा जाएगा। प्रधानमंत्री राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान बोल रहे थे।

पाकिस्तान के  मसले  पर उन्होंने कहा कि कि हम पाकिसतान की सरकार से उम्मीद करते हैं कि वह भारत के खिलाफ आतंकवाद को रोकने के लिए प्रभावी और मजबूत कदम उठाएगी और मुंबई हमलों के  गुनाहगारों तथा अन्य आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने वालों के खिलाफ अपने अधिकार क्षेत्र के सभी उपायों का इस्तेमाल करेगी। सिंह ने कहा कि यदि पाकिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत दृढ़ इच्छाशक्ति और नेतृत्वक्षमता  है तो मैं उन्हें आश्वस्त करता हूं कि हम उनसे अधिक आगे  बढ़कर काम करेंगे।

प्रधानमंत्री मनमाेहन सिंह ने सभी क्षेत्रों और वर्गों के समावेशी विकास को अपनी सरकार की प्राथमिकता बताते हुए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से राष्ट्रपति द्वारा देश के सामने पेश विकास के एजेंडे को क्रियान्वित करने में मिल कर कार्य करने का आग्रह किया है।

डॉ. सिंह ने मंगलवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पेश धन्यवाद पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि उनकी सरकार ऐसे समावेशी विकास के प्रति कटिबद्ध है, जिसका सभी काे बराबर लाभ मिले तथा लोगों को अपनी अपेक्षाओं को पूरा करने के समान अवसर मिले। उन्होंने कहा कि यह काम आसान नहीं है, लेकिन उन्हें पूरा विश्वास है कि सभी के सहयाेग इसे मूर्त रूप दिया जा सकता है।

लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद लोकसभा में अपने पहले संबोधन में डॉ. सिंह ने सदस्यों को आश्वस्त किया कि उनकी सरकार किसी क्षेत्र या राज्य के साथ राजनीतिक आधार पर काेई भेदभाव नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि समावेशी के विकास के लिए केंद्र, राज्यों और पंचायतों को मिलकर काम करना होगा और उनकी सरकार इसी उद्देश्य काे ध्यान में रखकर काम करेगी।

उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव का जनादेश स्थिरता, निरंतरता के साथ बदलाव, समावेशी विकास तथा देश के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप को बरकरार रखने के पक्ष में है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों को और मजबूती से लागू किया जाएगा। प्रधानमंत्री के जवाब के बाद सदन ने सर्वसम्मति से धन्यवाद प्रस्ताव पारित कर दिया।

डॉ. सिंह ने देश में निष्पक्ष ढंग से चुनाव तथा उसके बाद सरकार के गठन का जिक्र करते हुए इसे देश के मजबूत लोकतंत्र का परिचायक बताया। उन्होंने चुनाव में धनबल और बाहुबल के बढ़ते इस्तेमाल पर चिंता जताते हुए कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था की मजबूती के लिए इनसे निपटना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि हम सब को यह संकल्प लेना होगा कि हम धर्म और जाति के नाम पर समाज को बांटने वाले गुटों को बढावा नहीं देंगे।

प्रधानमंत्री ने सदन के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से होने को एक अच्छा संकेत बताते हुए कहा कि वह यह कामना करेंगे कि देश की समस्याओं और महत्वपूर्ण मसलों को सुलझाते वक्त भी आपसी सहयोग का यही रुख देखने को मिले। उन्होंने कहा कि अभिभाषण पर चर्चा के दौरान भी रचनात्मक सुझाव दिए गए हैं, जिनका वह स्वागत करते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों काे आगे बढ़ाने के लिए संसाधनों की भारी जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्ष में आर्थिक विकास की औसत दर 8.6 प्रतिशत रही, जिसके चलते हम शिक्षा, ग्रामीण विकास, कृषि, स्वास्थ्य और पर्यावरण संरक्षण क्षेत्र में भारी निवेश कर सके। उन्होंने कहा कि विश्वव्यापी मंदी का हमारी अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ा है और विकास दर गिर कर सात प्रतिशत रह गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंद होंगे भारतीयों पर नस्ली हमले : मनमोहन