class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी का तापमान 41 डिग्री

रविवार को भी अधिकतम तापमान 41 डिग्री से अधिक रहा। इसके चलते राजधानी में बिजली और पानी की किल्लत जारी रही। जल बोर्ड के दावों के बावजूद पानी की किल्लत बनी हुई है। जबकि अवकाश का दिन होने की वजह से मांग में कमी के बावजूद लोगों को पूरी बिजली नहीं मिली।


तीन दिन पहले यमुना में अमोनिया की मात्रा बढ़ने से वजीराबाद व चंद्रावल वाटर प्लांट में उत्पादन प्रभावित हो गया था। जल बोर्ड का दावा है कि अब स्थिति में काफी सुधार हो गया है और पानी की सप्लाई रूप से होने लगी है। बावजूद इसके अभी भी कई इलाकों में पानी की दिक्कत बनी हुई है। बोर्ड ने कई इलाकों में टयूबवेल और खारे पानी की सप्लाई शुरू कर दी है। यह पानी कतई पीने लायक नहीं है। लोगों का कहना है कि पानी मुंह में रखते ही मितली सी आने लगती है।


लोगों का कहना है कि पीने के लिए बोतलबंद पानी खरीदनी पड़ रहा है। बाजार में यह भी आसानी से उपलब्ध नहीं है। दुकानदार एक एक बोतल का मनचाहा दाम वसूल रहे हैं।  उधर रविवार को राजधानी में बिजली की अधिकतम मांग 3885 मेगावाट दर्ज की गई। यह औसत मांग से काफी अधिक है। दिल्ली के पावर प्लांट इंद्रप्रस्थ पॉवर स्टेशन की दो यूनिटें (122.5 मेगावाट), राजघाट की एक यूनिट (67.5 मेगावाट) बंद है। इसके अलावा 220 केवीए की दो लाइनें, 66 केवीए की पांच लाइनें, 33 केवीए की तीन लाइनों से भी सप्लाई पूरी नहीं हो पा रही है। रविवार को लो फ्रीक्वेंसी लो होने के कारण पांच बार सिस्टम ट्रिप हुआ। इस वजह से दोपहर में दो से तीन घंटे क्रमवार बिजली कटौती की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजधानी का तापमान 41 डिग्री