class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीआइएसएफ और ग्रामीणों में झड़प

एचइसी परिसर में जमीन दखल के दौरान सीआइएसएफ और कुटे और मुड़मा गांव के ग्रामीणों के बीच झड़प हुई। शनिवार को इस इलाके में दिन भर तनाव का माहौल रहा। इस संबंध में रातू के सीओ ओमप्रकाश यादव ने कहा कि ग्रामीणों का अधिकार जमीन पर नहीं है। एचइसी ने यह जमीन सीआइएसएफ को बकाया के एवज में दिया है। देर रात तक फोर्स वहीं जमी रही और दूसरी ओर ग्रामीण भी डटे रहे।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सीआइएसएफ अधिकारियों को निर्देश दिया कि जमीन दखल के बाद इसकी सूचना दें। इसी सिलसिले में शनिवार को सीआइएसएफ की कंपनी कुटे गांव पहुंची। अधिकारियों में कमांडेंट एमएस कालरा, सहायक कमांडेट शिवदत्त कुमार, सीओ ओमप्रकाश यादव और जगन्नाथपुर थाना प्रभारी अशोक कुमार सदल बल जैसे ही प्लॉट पर पहुंचे। ग्रामीण के साथ महिला और बच्चे भी आ धमके। ग्रामीणों ने साढ़े तीन बजे सड़क जाम कर दी और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। ग्रामीणों और अधिकारियों के बीच वार्ता भी हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीआइएसएफ और ग्रामीणों में झड़प