class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने को संघर्ष करेगा जदयू

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने को संघर्ष करेगा जदयू

जनता दल-यू संसदीय दल के वयोवृद्ध नेता एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रामसुंदर दास ने कहा है कि उनकी पार्टी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर अपना अभियान तथा संघर्ष तब तक जारी रखेगी जब तक उनकी यह मांग पूरी नहीं हो जाती। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चाहिए कि वह बिहार के हितों का ख्याल रखने के लिए अपने मंत्रिमंडल में किसी को मंत्री जरूर बनाएं क्योंकि मीरा कुमार के लोकसभा अध्यक्ष बनने से अब बिहार का कोई भी व्यक्ति केन्द्र में मंत्री नहीं रह गया है।

लोकजनशक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान को हाजीपुर सुरक्षित सीट से चुनाव में हराने वाले 88 वर्षीय दास ने बताया कि राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर संसद में चर्चा के दौरान ही बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग उठने लगी और संसद के आगामी सत्रों में भी यह मांग जारी रहेगी।

अब तक भाजपा के राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरूण जेटली, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के तारिक अनवर तथा बिहार से भाजपा सांसद भोला सिंह ने लोकसभा और राज्यसभा में यह मांग उठाई है। दास जदयू में सबसे वयोवृद्ध नेता हैं और वह उम्र में जार्ज फर्नान्डीस से भी बड़े हैं।

स्व कपरूरी ठाकुर के बाद बिहार में एक साल तक मुख्यमंत्री रहे दास ने कहा कि वह भी राष्ट्रपति अभिभाषण के दौरान यह मांग उठाना चाहते थे पर संसदीय दल के नेता के रूप में उन्होंने पहले शरद यादव, उपनेता राजीव रंजन उर्फ लल्लन तथा पार्टी के मुख्य सचेतक मंगनी लाल मंडल को पहले चर्चा में भाग लेने का मौका दिया। लल्लन और मंडल भी सोमवार-मंगलवार को अभिभाषण पर चर्चा के दौरान विशेष राज्य का मुद्दा उठाएंगे और आगामी सत्र में वह खुद भी यह मुद्दा उठाएंगे। इस मांग को लेकर बिहार के सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री से भी मिलेगा।

उन्होंने बिहार में किशनगंज से कांग्रेस के मुस्लिम सांसद इसरार उल हक कासमी को मंत्री बनाए जाने की वकालत की और कहा कि इससे राज्य का और अल्पसंख्यक समुदाय का भी प्रतिनिधित्व हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विशेष राज्य का दर्जा देने को संघर्ष करेगा जदयू