class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवराज, ओझा रहे भारतीय जीत के नायक

युवराज, ओझा रहे भारतीय जीत के नायक

युवराज सिंह के गगनचुंबी छक्कों और प्रज्ञान ओझा की चकमा देती फिरकी की बदौलत भारतीय टीम शनिवार को टवेंटी20 विश्व कप में शानदार आगाज करने में कामयाब रही।

भारतीय टीम ने पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश पर 25 रनों की जीत दर्ज की तो इसमें सबसे बड़ा योगदान इन्हीं दो खिलाड़ियों का रहा। इस जीत में सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर की सूझबूझ से भरी 50 रनों की पारी का भी अहम योगदान रहा।

बांग्लादेश जब 181 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरा तो उसके दोनों सलामी बल्लेबाजों तमीम इकबाल और जुनैद सिद्दीक ने बेहतरीन शुरुआत दी। दोनों की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के आगे भारतीय टीम के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज जहीर खान भी संघर्ष करते नजर आए। यही हाल इरफान पठान का भी रहा।

युसफ पठान ने भारत को पहली सफलता दिलाई और तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने इस सिलसिले को आगे बढ़ाया लेकिन बांग्लादेशी बल्लेबाजी की कमर तोड़ने का काम ओझा ने किया। उन्होंने अपनी फिरकी का ऐसा जाल फेंका कि उसमें एक-एक करके बांग्लादेश के चार बल्लेबाज फंस गए। ओझा ने चार विकेट झटकने में महज 21 रन खर्च किए। उन्हें मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया।

इससे पहले भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और गंभीर व रोहित शर्मा ने उनके इस निर्णय को सही साबित किया। दोनों ने पहले विकेट के लिए 59 रन जोड़े। रोहित (36 रन) के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे धोनी विकेट पर देर तक जमे रहे लेकिन इसका पूरा फायदा नहीं उठा सके और तेज खेलने के प्रयास में उन्हें 26 रनों के निजी स्कोर पर पेवेलियन लौटना पड़ा।

धोनी के आउट होने के बाद युवराज ने अपने जाने-पहचाने अंदा में बल्लेबाजी की। उन्होंने महज 18 गेंदों पर 41 रन जोड़कर बांग्लादेशी टीम को बैकफुट पर धकेल दिया। उनकी इस विस्फोटक पारी में चार छक्के और तीन चौके शामिल थे। उनकी और गंभीर की पारी की बदौलत ही भारत 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 180 रनों का स्कोर खड़ा किया। बांग्लादेश की ओर से नईम इस्लाम ने दो विकेट चटकाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवराज, ओझा रहे भारतीय जीत के नायक