class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुजनेत्सोवा बनी फ्रेंच ओपन की मल्लिका

कुजनेत्सोवा बनी फ्रेंच ओपन की मल्लिका

सातवीं वरीयता प्राप्त रूस की स्वेतलाना कुजनेत्सोवा ने दुनिया की नंबर एक खिलाडी और हमवतन दिनारा सफीना के जबरदस्त अभियान को आज यहां लगातार सेटों मे 6.4 6.2 से रोकते हुए फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामंट के महिला एकल का खिताब अपने नाम कर लिया।

कुजनेत्सोवा ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए सफीना की चुनौती को महज 74 मिनट में आसानी से ध्वस्त करते हुए उनका पहला ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने का सपना चकनाचूर कर दिया। कुजनेत्सोवा का यह दूसरा ग्रैंड स्लेम खिताब है। इससे पहले उन्होंने वर्ष 2004 मंे यू एस ओपन में खिताबी जीत हासिल की थी।

सेंटर कोर्ट पर खेले गए खिताबी मुकाबले में 23 वर्षीय कुजनेत्सोवा ने हमउम्र और करीबी दोस्त सफीना को खेल के हर विभाग में बौना साबित कर दिया। सफीना को रोलां गैरा की लाल बजरी पर लगातार दूसरी बार खिताबी मुकाबले मंे शिकस्त का सामना करना पडा है। गत वर्ष उन्हंे फाइनल में सर्बिया की अना इवानोविच के खिलाफ हार ङोलनी पडी थी।

पहले सेट की शुरूआत में दोनों सहेलियों ने एकदूसरे की सर्विस तोडने का सिलसिला जारी रखा। लेकिन आठवें गेम में कुजनेत्सोवा ने सफीना की सर्विस तोडते हुए मैच पर अपनी पकड मजबूत कर ली। इसके बाद भी उन्हांेने लगातार सफीना पर दबाव बनाए रखा और पहला सेट अपने नाम कर लिया।

इससे अपना तीसरा ग्रैंड स्लेम फाइनल खेल रही सफीना जबर्दस्त तनाव में आ गई और कुजनेत्सोवा के जबर्दस्त खेल के आगे पूरी तरह नतमस्तक हो गई। कुजनेत्सोवा ने 4.2 के स्कोर पर जबर्दस्त फोरहैंड लगाते हुए उनकी सर्विस तोड दी और इसके बाद पीछे मुडकर नहीं देखा। सफीना ने पहले मैच प्वाइंट पर डबल फाल्ट करते हुए मैच और खिताब कुजनेत्सोवा की झोली मंे डाल दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुजनेत्सोवा बनी फ्रेंच ओपन की मल्लिका