class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेयजल के लिए सरकार कड़े कदम उठाए

दिल्ली भाजपा ने मांग की है कि राजधानी में पेयजल आपूर्ति के लिए सरकार कड़े कदम उठाए। सरकार की नाकामी के चलते दिल्ली के लोग पेयजल के लिए तरस रहे हैं और सरकार लाचारी का रोना रहकर रह जाती है। आखिर इसके लिए कौन जिम्मेदार है।


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश कोहली ने राजधानी में पेयजल संकट पर चिंता जताते हुए कहा कि इस भीषण गर्मी में पेयजल की किल्लत के लिए जल बोर्ड के कामकाज की समीक्षा करनी चाहिए व उसकी खामियों को दूर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली और हरियाणा सरकारें इस मामले में एक-दूसरे को दोषी ठहरा रही है लेकिन इसके बीच आम आदमी की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। विकास का अर्थ केवल फ्लाई ओवर और मॉल्स का निर्माण भर ही नहीं है बल्कि विकास का असली अर्थ बिजली-पानी जैसी बुनियादी जरुरतों की संतोषजनक आपूर्ति भी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार समस्या का जल्द समाधान करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेयजल के लिए सरकार कड़े कदम उठाए