class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महीने के अंतिम दिन शिविर लगाने की तैयारी,कैलेण्डर बनाने में जुटा विभाग

इंदिरा आवास के लाभार्थियों को आवास उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण विकास विभाग ने मुहिम चलाने का फैसला किया है। इसके तहत अब हर महीने राज्य भर में प्रखण्ड स्तर पर विशेष वितरण शिविर आयोजित किए जाएंगे। शिविर महीने के अंतिम दिन लगेंगे और उस दिन को इंदिरा आवास दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। विभाग फिलहाल इसका कैलेण्डर तैयार करने में जुटा है।

अभी तक हर दो माह पर शिविर आयोजित करने की योजना थी, लेकिन लक्ष्य को पूरा करने के लिए इस अभियान को और गति देने की तैयारी है। विभाग ने गरीबों को आवास उपलब्ध कराने के लिए विजन 2012 के तहत यह अभियान चलाने का निर्णय लिया है। ग्रामीण विकास मंत्री श्री भगवान सिंह कुशवाहा के अनुसार सरकार का लक्ष्य है कि वर्ष 2012 तक सूबे में हर गरीब परिवार को इंदिरा आवास उपलब्ध करा दिया जाए। इसके लिए इस वर्ष का नया लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

यही नहीं सरकार ने नक्सल और कालाजार प्रभावित जिलों के साथ-साथ कोसी महाप्रलय के प्रभावितों के लिए अलग से इंदिरा आवास देने की योजना बनाई है। इस वर्ष की योजना के तहत 10 लाख 98 हजार 100 इंदिरा आवास बनेंगे। कालाजार प्रभावित जिलों अररिया, बेगूसराय, पूर्वी चम्पारण, दरभंगा, गोपालगंज, कटिहार, खगड़िया, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, सहरसा, समस्तीपुर, सारण, सीतामढ़ी, वशाली में 73 हजार 140 मकान की विशेष व्यवस्था की गई है।

इसी तरह नक्सल प्रभावित औरंगाबाद, गया, अरवल, जमुई, जहानाबाद, रोहतास में भी एक लाख 1,05,408 हजार 408 घर बनेंगे। कोसी की बाढ़ से प्रभावित सुपौल, मधेपुरा, अररिया, कटिहार और सहरसा जिले में भी अलग से 41 हजार 70 मकान बनेंगे। गत वर्ष 5,67,125 मकान बनाने का लक्ष्य था, जिसे पूरा कर लिया गया है। यही नहीं वर्ष 2007-08 के शेष रह गए 67 हजार मकानों का भी निर्माण हो गया। बेहतर कार्यो के कारण ही बिहार देश में ग्रेड ए सूबा बना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंदिरा आवास बांटने को लगेंगे हर माह विशेष शिविर