class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एयर फ्रांस के लापता विमान पर रहस्य गहराया

एयर फ्रांस के लापता विमान पर रहस्य गहराया

अटलांटिक महासागर में बीते सोमवार दुर्घटनाग्रस्त हुए एयर फ्रांस के विमान एयरबस ए 330-200 को लेकर रहस्य गहराता जा रहा है। अब तक न तो विमान के मलबे का पता चला है और न ही इसमें सवार 228 लोगों का ही कोई सुराग लग सका है।

विमान के मलबे को ढूंढने का जो काम चल रहा है उसमें शुक्रवार को खराब मौसम और कम दृश्यता की वजह से खासी दिक्कत आई। फ्रांस का कहना है कि वह हादसे के संभावित इलाके में विमान का ब्लैक बॉक्स ढूंढने के लिए एक पनडुब्बी खोजेगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि आखिर इस विमान के साथ क्या हुआ था।

इस मामले में गुरुवार को अहम मोड़ तब आया जब ब्राजीलियाई वायु सेना के हवाई नियंत्रण विभाग के निदेशक ब्रिगेडियर रैमोन काडरेसो ने कहा कि महासागर से बरामद मलबा दुर्घटनाग्रस्त विमान का नहीं है।

फ्रांस के रक्षा मंत्री हर्व मोरिन ने पेरिस में कहा कि एक परमाणु पनडुब्बी को ब्राजील के तट से लगभग 1,200 किलोमीटर के इलाके में भेजा जा रहा है। यह पनडुब्बी अत्याधुनिक और संवेदनशील उपकरणों से लैस है।

मोरिन ने कहा कि यह पनडुब्बी विमान का ब्लैक बॉक्स ढूंढने में मदद कर सकती है। उन्होंने कहा कि आशंका इस बात की भी है कि यह विमान आतंकवादियों के बम विस्फोट का निशाना बना हो।

उधर, इस हादसे की जांच में जुटी फ्रेंच ऑफिस ऑफ एक्सीडेंट इंवेस्टिगेशंस एंड एनालिसिस (बीईए) ने एक बयान में आधारहीन सूचनाओं के आधार पर अटकलबाजी करने पर चेतावनी दी है।

गौरतलब है कि यह विमान रियो डी जनेरियो से पेरिस के लिए उड़ान भरने के बाद सोमवार को लापता हो गया था। इसमें 216 यात्री और चालक दल के 12 लोग सवार थे। विमान में फ्रांस के 72, ब्राजील के 60 और जर्मनी के 26 नागरिक व अन्य 29 देशों के नागरिक सवार थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एयर फ्रांस के लापता विमान पर रहस्य गहराया