class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जलालत भरी हार पर बरसा ब्रिटिश मीडिया

जलालत भरी हार पर बरसा ब्रिटिश मीडिया

टी-20 विश्व कप के दूसरे संस्करण के पहले मैच में ही नीदरलैंड्स जैसी कमजोर टीम के हाथों मिली करारी शिकस्त के बाद इंग्लैंड के मीडिया ने अपनी टीम को आड़े हाथों लेते हुए जमकर कोसा है।

दैनिक समाचार पत्र ‘द टेलीग्राफ’ लिखता है कि ऐतिहासिक लॉर्ड्स स्टेडियम में नारंगी क्रांति ने इंग्लैंड के मंसूबों को कुचल दिया। पत्र ने लिखा है कि इस हार ने अपनी टीम से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद लगाए करोड़ों अंग्रेजों को निराश कर दिया है क्योंकि किसी को उम्मीद नहीं थी कि लॉर्ड्स के 195 वर्षों के इतिहास में इतना बड़ा उलटफेर होगा।

एक अन्य समाचार पत्र ‘गार्जियन’ ने इसे अपमानित करने वाली हार बताया है। पत्र के मुताबिक इस हार के बाद अब पॉल कोलिंगवुड की टीम का सुपर-8 में पहुंचने का सपना लगभग टूट चुका है क्योंकि दूसरे ग्रुप मैच में उसे पाकिस्तान से भिड़ना है, जिसे हराना काफी कठिन होगा।

‘इंडिपेंडेंट’ लिखता है कि विश्व कप से पहले कोलिंगवुड ने कहा था कि ‘हमें भरोसा है कि हम जीतेंगे’, लेकिन उनका यह भरोसा पहले मैच के बाद ही रसातल में चला गया है।

अपने संपादकीय में पत्र ने लिखा है कि उधार की राशि एकत्रित करने वाले (टॉम डी ग्रूथ) और विज्ञापन कंपनी में काम करने वाले (एडगर शिफरली) ने 100 साल से पेशेवर क्रिकेट खेल रही इंग्लैंड की टीम को शर्मनाक हार झेलने पर मजबूर कर दिया।

पत्र ने यहां तक लिखा कि अच्छा हुआ कि नीदरलैंड्स ने बर्गर किंग रेस्टोरेंट में हॉट डॉग बर्गर का आर्डर लेने वाले मुदस्सर बुखारी को अंतिम-11 में शामिल नहीं किया। अगर ऐसा होता तो इंग्लैंड टीम को और भी जलालत झेलनी पड़ती।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जलालत भरी हार पर बरसा ब्रिटिश मीडिया