class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हुआ विदाई का गम

हुआ विदाई का गम

‘सात फेरे’ की विदाई होने वाली है, पर उससे पहले जबर्दस्त ड्रामा शुरू हो गया है। शरद केलकर को अपने सहयोगी कलाकारों से जुदा होने का गम बहुत सता रहा है। वह उनके लिए लंच ले आते हैं। सभी मिल कर खाना खाते हैं और आनंद मनाते हैं।  ‘सात फेरे’ की विदाई से सबसे ज्यादा परेशानी श्वेता (रचना पारुलकर) और सावरी (आम्रपाली) को हो रही है, क्योंकि  ‘सात फेरे’ की विदाई के बाद ये खाली हो जएंगी। इन्हें यही बात खल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हुआ विदाई का गम