class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहली मुलाकात.....और प्यार हो गया

पहली मुलाकात.....और प्यार हो गया

प्लीज, क्या आप दरवाज बंद कर सकते हैं? यहां मच्छर नहीं, हेलीकॉप्टर होते हैं,’ किसी ने मेरे फोटोग्राफर से कहा। फोटोग्राफर खुली बालकनी के दरवाजे पर खड़ा था। यह देखने के लिए हमें मुड़ना नहीं पड़ा कि वह कौन है। जिस व्यक्ति ने यह बात कही थी, उसमें अमिताभ या अभिषेक की आवाज की जानी-पहचानी टोन थी। जल्द ही पता चल गया। वह अभिषेक बच्चन की आवाज थी। उसी समय शानदार सुनहरी ड्रेस में वह हस्ती आई, जिसके सौंदर्य के विषय में इतना लिखा गया है, जितना अफगानिस्तान युद्ध के विषय में भी नहीं। अभिषेक, ऐश्वर्या और हम लिविंग रूम में बैठे थे, जिसमें सुनहरे और लाल रंग के  शेड्स काफी आकर्षक लग रहे थे। अभिषेक और ऐश्वर्या की शादी के दो वर्ष हो चुके हैं।

शूटिंग पर हुई मुलाकात
‘दो वर्ष का शादीशुदा जीवन कैसा रहा?’ जवाब में अभिषेक ने मुस्कराते हुए कहा- ‘मैं अब भी सुबह उठता हूं और उसी कमरे में सोता हूं, जिसमें ऐश्वर्या राय।’ यह सुन कर ऐश्वर्या तुरंत बोली- ‘ठीक एक दूसरे के बाद उठना बहुत अच्छा लगता है।’ अभिषेक और ऐश्वर्या की पहली मुलाकात स्विट्जरलैंड में हुई थी, जब ऐश्वर्या ‘और प्यार हो गया’ की शूटिंग के लिए  वहां गई थीं। अभिषेक भी वहीं थे। ऐश्वर्या ने हंसते हुए कहा- ‘जब इन्होंने बात करनी शुरू की, तब मुझे एक भी शब्द समझ में नहीं आया कि यह क्या कह रहे हैं। यह शब्दों पर कुछ इस तरह जोर देकर बोल रहे थे कि जल्दी समझ में नहीं आ रहा था।’

दोस्त ने करवाया परिचय
मेकअप आर्टिस्ट मिकी कॉन्ट्रैक्टर अभिषेक और ऐश्वर्या के कॉमन दोस्त थे। उन्होंने ही दोनों का परिचय करवाया था। उन्होंने अभिषेक की ओर संकेत करते हुए कहा था- ‘फिल्मों में अभिषेक का बहुत ही अच्छा भविष्य है और ऐश्वर्या से कहा था- ‘यहां तुम्हारा भविष्य है।’ उनका संकेत अभिषेक की ओर था।
कौन-सी चीज दोनों को बांध कर रखती है, इस संबंध में पूछने पर ऐश्वर्या ने कहा, ‘हमारा वैल्यू सिस्टम। हम दोनों न्यूक्लियर परिवार से हैं। मेरे डैड मरीन इंजीनियर थे। उन्हें अधिकतर घर से बाहर रहना पड़ता था। उधर अभिषेक के पिता को भी अधिकतर घर से बाहर रहना पड़ता था। लेकिन इसके बावजूद हम दोनों का पालन-पोषण बहुत सभ्य और अच्छे ढंग से हुआ। इनके पिता ने सचमुच इनकी और इनकी बहन का सामान्य तरीके से पालन-पोषण किया।’

ऐश को बेटी से भी ज्यादा प्यार मिला
‘ऐश्वर्या की कौन-सी बात आपको सबसे अच्छी लगती है?’ इस प्रश्न के जवाब में अभिषेक ने खुद एक प्रश्न कर दिया, ‘आप के पास कितने पेपर हैं?’ मैंने उन्हें आश्वासन दिया- ‘बहुत से’। अभिषेक ने बोलना जारी रखा - ‘ऐश्वर्या में ऐसी योग्यता है कि यह विश्वास दिलाने में सफल हो जाती है कि आप अपने दिमाग में अपने सपनों के साथी के विषय में बहुत उच्च स्तर का विचार बना सकते हैं और उसे प्राप्त भी कर सकते हैं।’
ऐश बहुत खुश हो गई, बोली- ‘यह इंटरव्यू मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। क्या हम इसे हमेशा जारी रख सकते हैं?’
अभिषेक ने बताया- ‘मेरे माता-पिता मेरी जिंदगी के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। ऐश्वर्या ने हमारे परिवार में अपने को जैसे ढाला है, वह सचमुच तारीफ के काबिल और आश्चर्यजनक है। मुझे लगता है मेरे माता-पिता ऐश्वर्या को बेटी से ज्यादा प्यार करते हैं। बेटे के रूप में मुझे जितना प्यार करते हैं, उससे कही अधिक ऐश्वर्या को। ऐश्वर्या को लोगों का ख्याल रखने की बहुत अच्छी आदत है। यदि आपकी तबीयत ठीक नहीं और ऐश्वर्या आपके आसपास हो तो मेरे ख्याल से आप सबसे भाग्यशाली आदमी हैं। शाम को घर लौटने पर ऐश्वर्या पूछती है- ‘कैसा रहा आज का दिन? भूख लगी है? खाने को कुछ दूं?’ वह हमारे घर की दादी लगती है। एक करीबी दोस्त सृष्टि आर्य जो हमारी बहन की तरह है, शादी के दिन स्टेज पर आई और बोली- ‘तुमने अपनी मां से शादी कर ली?’

अच्छे दामाद हैं अभिषेक
अब ऐश की बारी थी। उन्होंने कहा- ‘मैं सोचती हूं कि हम दोनों बच्चे की तरह हैं, जो स्वाभाविक रुप से स्वयं से प्रेम करता और खिलखिलाता है, जैसे मैं हंसती हूं।’ बीच में अभिषेक ने कहा- ‘ओह! बंद करो।’  ऐश ने फिर भी जारी रखा,‘कोई पसंद करे या न करे, हमारे अंदर जो एक बच्चा है, वह हमेशा वहीं रहेगा। साथ ही साथ जरूरत पड़ने पर हम परिपक्व भी हो जाएंगे।’
क्या अभिषेक जितने अच्छे पुत्र हैं, उतने ही अच्छे दामाद भी हैं? इस प्रश्न पर ऐश्वर्या की आंखों में चमक आ गई, बोली- ‘मेरे माता-पिता इनसे बहुत प्रेम करते हैं।’ अभिषेक ने आगे जोड़ा- ‘शुरू-शुरू में वे बहुत फॉर्मल थे। पूरी तरह दामाद समझते थे। जब मैं ससुराल जाता हूं तो उन्हें नहीं बताता, सीधे बिस्तर पर जाता हूं और खाने के लिए मांगता हूं।’ इसके बाद उन्होंने फिर कहा- ‘कोई मेरी बहन का स्थान नहीं ले सकता। ऐश मेरे माता-पिता की दूसरी लड़की है।’

बच्चों को प्यार मिलना चाहिए
‘भारत के शहरों में संयुक्त परिवार की परंपरा खत्म हो रही है, ऐसे में संयुक्त परिवार में रहना कैसा लगता है?’ अभिषेक कहते हैं- ‘हम कुछ अजीब मानसिकता के समय में रह रहे हैं, जहां लोग शादियों के विषय में बात करते हैं और वे शादियां होती नहीं। ससुराल के लोग गलत व्यवहार करते हैं।  परंतु मैंने अपने परिवार में सिर्फ प्रेम और सम्मान देखा है।
‘जब मैं अपनी बहन श्वेता के बच्चों को अपने माता-पिता के साथ देखता हूं तो उनका प्रेम देख कर सोचता हूं कि अपने बच्चों को अपने माता-पिता के प्यार से वंचित नहीं रहने दूंगा। बच्चे चाहे जब हों।’ अभिषेक ने जब बच्चों का जिक्र छेड़ ही दिया, तब मैंने उनसे पूछा कि वे अपना परिवार कब शुरू कर रहे हैं। अभिषेक ने कहा- ‘ऐश्वर्या के गर्भवती होने के विषय में लगातार अनुमान लगाया जा रहा है।
‘ईश्वर की इच्छा है। उनके आशीर्वाद से जब भी होगा, सबको पता चल जाएगा। लोग यह नहीं सोचते कि बच्चे होने की बात छिपाई नहीं जा सकती। ’

पावर प्रोफाइल
अभिषेक बच्चन: ये सुपर स्टार अमिताभ बच्चन और जया बच्चन के पुत्र और सफल एक्टर हैं। तीन वर्ष तक लगातार ये सर्वश्रेष्ठ सहायक कलाकार के फिल्म फेयर अवॉर्ड के सफल अभिनेता रहे हैं। इन्हें उत्तर प्रदेश सरकार के सर्वोच्च सम्मान यश भारती से भी नवाजा गया है।
ऐश्वर्या राय बच्चन: पूर्व मिस वर्ल्ड पद्मश्री ऐश्वर्या राय बच्चन को तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड और सिनेमा में अच्छे कार्य के लिए ‘राजीव गांधी अवॉर्ड’ भी मिल चुका है। इन्हें हॉलीवुड में भारतीय सिनेमा की अंतरराष्ट्रीय हस्ती के रूप में जना जता है।  ‘टाइम’ पत्रिका के कवर पर इनकी फोटो छप चुकी है।

क्या आप जानते हैं?
अभिषेक और ऐश्वर्या की शादी 20 अप्रैल 2007 को साउथ इंडियन बन्ट समुदाय के पारंपरिक हिंदू संस्कारों के अनुसार हुई थी। ऐश्वर्या इसी समुदाय की हैं। उत्तर भारतीय और बंगाली विवाह रीति से भी विवाह सम्पन्न हुआ था।
ऐश्वर्या को अपने ससुर की तरह सामान इकट्ठा करने की आदत है। यादगार के रूप में वह छोटी से छोटी चीज भी सुरक्षित रखती हैं। अपनी हर यात्रा के बोर्डिग पास रखती हैं।

अभिषेक एक बहुत अच्छे कुक हैं। चिकन करी बहुत अच्छी बनाते हैं। वह व्यवहार कुशल और हर काम बहुत संयोजित ढंग से करने के आदी हैं।
अपनी इस खूबी का श्रेय वह अपने बोर्डिग स्कूल को देते हैं।
ऐश्वर्या राय स्टीरियो टाइप महिलाओं से अलग एक्शन फिल्मों और फुटबाल मैचों की दीवानी हैं। अभिषेक को भी यही पसंद है। ऐश का पहला सपना चेल्सिया और मैनचेस्टर यूनाइटेड  मैच का लाइव मैच देखना था।

ऐश के अलावा ऐश्वर्या का निकनेम ‘गुल्लू’ भी है।

शादी की सफलता का मूल मंत्र क्या है, इस संबंध में अभिषेक और ऐश्वर्या अपना नजरिया बताते हैं, ‘अपनी पहचान बनाए रखिए, पर साथ-साथ पति-पत्नी को एक-दूसरे की जरूरतों पर भी ध्यान देना चाहिए। यदि किसी बात पर विरोध है तो कपल को उस पर ठंडे दिमाग से विचार करना चाहिए।
कपल के बीच जब झगड़ा हो, तब उसे सुलझने से पहले सोने नहीं जाना चाहिए।’


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहली मुलाकात.....और प्यार हो गया