class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टी-20 बनाने वाला मैनेजर

टी-20 बनाने वाला मैनेजर

क्या आपको मालूम है कि टी-20 क्रिकेट की योजना बनाने वाला शख्स कोई क्रिकेटर नहीं बल्कि एक मैनेजर था। जब पहली बार उसने टी-20 के प्रोजेक्ट को प्रस्ताव बनाकर इंग्लिश एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड के सामने पेश किया तो काउंटी क्रिकेट के आकाओं ने उसे मानने से इनकार कर दिया। सीनियर इंग्लिश क्रिकेटर तो इस कदर आगबबूला हो गये थे कि उन्होंने मैचों में नहीं उतरने की धमकी दे डाली थी। ये काफी रिस्की प्रयोग था। लेकिन अब छह साल बाद ये इतना सुपर हिट हो चुका है कि टेस्ट क्रिकेट को उससे खतरा महसूस होने लगा है।


टी-20 क्रिकेट की योजना बनाने वाले इस शख्स का नाम स्टुअर्ट राबर्टसन है। वर्ष 2001 में वो इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड में मार्केटिंग मैनेजर थे। ये वो दौर था जब काउंटी क्रिकेट की हालत खस्ता थी। उनका मुनाफा घटने लगा था। दर्शकों ने मैचों में आना करीब-करीब छोड़ ही दिया था। ऐसे में राबर्टसन से ये कहा गया कि कुछ ऐसी योजना बनाएं कि दर्शक काउंटी मैचों में खींचे चले आएं। राबर्टसन ने काम शुरू किया। उन्होंने बड़े पैमाने पर कंज्यूमर रिसर्च का काम शुरू किया। लोगों से पूछना शुरू किया गया कि आखिर क्यों वो अब मैच नहीं देखना चाहते। लोगों ने बेबाक जबाव दिये। काउंटी क्रिकेट की बोरियत की ओर इशारा किया। लोगों के पास समय की किल्लत थी और मैचों में रोमांच नहीं होने से उन्हें मजा भी नहीं आ रहा था। उनसे ये भी पूछा गया कि वो कैसी क्रिकेट देखना चाहते हैं। इस रिसर्च ऑप्रेशन में मोटा पैसा खर्च हुआ। करीब दो लाख पाउंड। रिसर्च पूरी हुई अब राबर्टसन को रिपोर्ट तैयार करनी थी। इसके आधार पर एक प्रस्ताव पेश करना था कि आखिर कैसी क्रिकेट लोगों को चाहिए जो काउंटी क्रिकेट को भी मालामाल कर सकती है।


जब उन्होंने पहली बार टी-20 क्रिकेट का प्रस्ताव ईसीबी के सामने पेश किया तो इसका जबरदस्त विरोध हुआ। काउंटी क्लबों के चेयरमैन तो हत्थे से उखड़ गये। वो मौजूदा क्रिकेट के फॉरमेट में कतई बदलाव के मूड में नहीं थे। परंपरागतवादियों का कहना था कि ये प्रस्ताव बहुत ही बेतुका है, जिससे कोई फायदा नहीं होने वाला। ऐसे में राबर्टसन का काम थोड़ा और बढ़ गया। उसे काउंटी क्रिकेट के मार्केटिंग डायरेक्टर्स को अपनी योजना के बारे  में समझना पड़ा। और आश्चर्य। इस स्तर पर उन्हें तुरंत हरी झंडी मिल गई। वो सभी राबर्टसन की योजना से सौ फीसदी सहमत थे। लिहाज उन्होंने अपनी काउंटी के चेयरमैन को विश्वास में लिया। टी-20 क्रिकेट के प्रस्ताव पर वोटिंग हुई। आखिरकार योजना को 11-7 से मंजूरी मिल गई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टी-20 बनाने वाला मैनेजर