class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारूहातू पिकेट पर उग्रवादियों का हमला

बारूहातू पिकेट पर बुधवार की रात हथियारबंद उग्रवादियों ने हमला कर दिया। पिकेट में मौजूद सीआरपीएफ के जवानों ने तुरंत मोर्चा संभाल लिया और जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। दोनों ओर से ताबड़तोड़ गोलियां चली, पर किसी तरह के नुकसान होने की खबर नहीं है।

बाद में सीआरपीएफ के जवानों ने जिला पुलिस के साथ सघन छापामारी अभियान चलाया। मौके पर से पुलिस ने कई खोखे बरामद किए हैं। आशंका जताई गई है कि इस हमले के पीछे कुख्यात इनामी उग्रवादी कुंदन पाहन दस्ते का हाथ है। सूत्रों के अनुसार उग्रवादियों ने ऐसा दहशत फैलाने व हथियार लूटने के इरादे से किया। इस घटना की जानकारी मिलते ही सीआरपीएफ के डीआईजी आलोक राज ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। उग्रवादियों की खोज में सघन छापामारी जारी थी। घटना के संबंध में पुलिस सूत्रों ने बताया कि बुधवार की रात सवा बारह बजे के करीब हथियारबंद उग्रवादियों ने बारूहातू पिकेट पर धावा बोल दिया। पिकेट पर अंधाधुंध गोलियां चलाई गई। पिकेट में मौजूद सीआरपीएफ के जवानों ने तुरंत मोर्चा संभाल लिया और मुंह तोड़ जवाब दिया। पिकेट पर लगभग एक कंपनी सीआरपीएफ के जवान मौजूद थे।

पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी मोर्चा छोड़ भाग निकले। उग्रवादियों ने अंधेरे का भी फायदा उठाया। पुलिस सूत्रों के अनुसार उग्रवादियों की ओर से करीब तीन सौ राउंड गोलियां चलाई गई, वहीं जवानों ने लगभग पौने दो सौ राउंड गोलियां चलाई। करीब आधे घंटे तक लगातार दोनों ओर से गोलियां चलती रही। गोलियों के आवाज से आसपास का गांव थर्रा उठा। गांव के लोग डर से घरों में ही दुबके रहे। वहीं कुछ पुरूष घर से रफू-चक्कर हो गए। उन्हें यह डर सता रहा था कि उग्रवादियों के नाम पर पुलिस का गुस्सा उनपर टूटेगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बारूहातू पिकेट पर उग्रवादियों का हमला