class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोस्ट आफिस पर 15 हजार का जुर्माना

उपभोक्ता फोरम ने पोस्ट आफिस पर 15 हजार रुपये का जुर्माना किया है। फोरम ने यह निर्णय विधि महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य प्रो. आशुतोष चौधरी के मुकदमे की सुनवाई के बाद दी है।

पूर्व प्राचार्य प्रो. चौधरी ने पोस्ट आफिस द्वारा उनके खाते में पर्याप्त रकम रहते हुए भी कोटक महिंद्रा इंश्योरेंस कंपनी को भुगतान नहीं करने के विरुद्ध यह कदम उठाया था। दरअसल प्रो. चौधरी ने इंश्योरेंस कंपनी के नाम से 30 हजार रुपये का चेक काटा जिसे कंपनी ने पोस्ट आफिस भेज दिया। लेकिन धनबाद मुख्य डाकघर द्वारा कंपनी को बताया गया कि प्रो. चौधरी के खाते में पर्याप्त रकम मौजूद नहीं है। लिहाजा चेक बाउंस हो गया। कंपनी ने इसके विरुद्ध कार्रवाई की व प्रो. चौधरी पर 550 रुपये का जुर्माना किया। बाद में प्रो. चौधरी ने जब खाते की जांच की तो पोस्ट आफिस स्थित उनके खाते में 32 हजार रुपये से अधिक की रकम जमा पाया। लिहाजा उन्होंने उपभोक्ता फोरम में आवेदन दिया। इस पर कार्रवाई शुरू हुई और गुरुवार को फोरम अध्यक्ष व दोनों सदस्यों की उपस्थिति में पोस्ट आफिस पर लापरवाही बरतते हुए प्रो. चौधरी को आर्थिक नुकसान पहुंचाने के जुर्म में 10 हजार रुपये जुर्माना किया गया। पांच हजार रुपये उन्हें बतौर मुकदमा खर्च वहन करने व इंश्योरेंस कंपनी को बतौर जुर्माना दिए गए 550 रुपये का भुगतान भी पोस्ट आफिस को ही करने का निर्देश दिया गया है। इस मामले में मुख्य डाकघर को कुल 15550 रुपये भुगतान करने होंगे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पोस्ट आफिस पर 15 हजार का जुर्माना