class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पृथ्वी को जलवायु परिवर्तन से बचाने की शपथ लें

चंडीगढ-हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने लोगो से आग्रह किया कि वे पृथ्वी को जलवायु परिवर्तन से बचाने की शपथ लें तथा ऐसी स्थायी रणनीति बनाए जो जलवायु में हो रहे परिवर्तन को कम से कम करने में योगदान दे सके।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जारी संदेश में मुख्यमंत्री ने उद्योगो तथा खनन समुदाय से अपील की कि वे पर्यावरण कानून से बाध्य होकर नहीं बल्कि मानवता की सेवा के एक मिशन के रूप में पर्यावरण से सम्बन्धित मुद्दो पर ध्यान दें।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस का मुख्य एजेंडा पर्यावरणिक मुद्दो को मानवीय स्वरूप देना तथा सतत् एवं समान विकास को प्रोत्साहित करने के लिए लोगो को एक सक्रिय माध्यम बनने के लिए सशक्त करना है जिससे राष्ट्र तथा मानवता के लिए एक सुरक्षित एवं अधिक समृद्ध भविष्य सुनिश्चित हो सके।

उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपने दायित्व को समझते हुए वर्तमान हरियाणा सरकार प्रदेश में हरित एवं स्वच्छ पर्यावरण सुनिश्चित करने को उच्च प्राथमिकता दे रही है। सरकार ने जलवायु परिवर्तन के समाधान के लिए तीन आयामी दीर्घावधि रणनीति अपनाई है, जिसके तहत वन एवं हरित आच्छादित क्षेत्र को बढ़ाने, उद्योगो से उत्सर्जन को नियंत्रित करने तथा वायु एवं नदियो के पानी की निरन्तर जाच पर बल दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय द्वारा शुरू की गई नैशनल ग्रीन कॉ‌र्प्स योजना के तहत स्कूली बच्चो में पर्यावरण की सुरक्षा एवं संरक्षण के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने हेतु इको-क्लब्स की स्थापना एवं संचालन को और प्रभावी बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के गाव पाली में हानिकारक कचरे के निपटान के लिए एक संयंत्र स्थापित किया जा रहा है। हानिकारक कचरे के उपचार, भण्डारण एवं निपटान के लिए फरीदाबाद में एक सामान्य सुविधा विकसित की जा रही है, जहा प्रदेश की प्रदूषण फैलाने वाली विभिन्न इकाइयो में उत्पन्न होने वाले हानिकारक कचरे के वैज्ञानिक निपटान की सुविधा होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पृथ्वी को जलवायु परिवर्तन से बचाने की शपथ लें