class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत

भारत

दो साल पहले जब टीम इंडिया पहले वर्ल्ड टी-20 में हिस्सा लेने पहुंची थी तो शायद ही किसी को ये उम्मीद रही हो कि ये टीम क्रिकेट के ऐसे संस्करण में चैंपियन बनकर लौटेगी, जो भारत में खेला ही नहीं जाता। वर्ल्ड कप से पहले भारत ने महज एक आधिकारिक टी-20 मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। जिसमें उसने जीत हासिल की थी। अब भारतीय टीम चैंपियन के रूप में वर्ल्ड कप में उतरेगी। उससे अपेक्षाएं अगर ज्यादा हैं तो इसका मतलब ये कि दबाव भी ज्यादा होगा।

 

टीम:- महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग (उपकप्तान), गौतम गंभीर, सुरेश रैना, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, यूसुफ पठान, इरफान पठान, रवींद्र जडेजा, जहीर खान, आरपी सिंह, ईशांत शर्मा, हरभजन, प्रवीन कुमार, प्रज्ञान ओझा

कोच- गैरी कर्स्टन

मजबूती:- टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का मिश्रण। बेहद संतुलित और दमदार टीम। जितनी उम्दा बैटिंग वैसी ही धारदार और विविधता वाले गेंदबाजों की फौज भी। आईपीएल के दौरान कई खिलाड़ियों ने खुद को बेहतरीन ऑलराउंडर के रूप में स्थापित कर लिया है। सबसे बड़ी बात हर खिलाड़ी में मैच की तस्वीर बदलने की क्षमता है।

 

कमजोरी:- गत चैंपियन होने के कारण अब टीम इंडिया से अपेक्षाएं भी ज्यादा हैं। लिहाजा दबाव भी बहुत अधिक होगा। आईपीएल की थकान भी असर डाल सकती है। मौसम भी दक्षिण अफ्रीका की तुलना में एकदम अलग होगा।

 

ग्रुप ए:-  वर्ल्ड टी- 20 का ये सबसे आसान ग्रुप है। ग्रुप में भारत, बांग्लादेश के अलावा आयरलैंड की टीम है। ऐसे में अनुमान लगाना मुश्किल नहीं होना चाहिए कि ग्रुप की कौन सी दो टीमें सुपर-8 में जगह बना सकती हैं। भारत इस ग्रुप की सबसे दमदार टीम है। तो बांग्लादेश बेशक आयरलैंड की तुलना में बहुत आगे। अंदाजा तो यही है कि भारत और बांग्लादेश को दूसरे दौर में पहुंचने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत