class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्ट्रेस भगाएं, पौष्टिक खाएं

स्ट्रेस भगाएं, पौष्टिक खाएं

आजकल का लाइफस्टाइल ऐसा हो गया है , जिससे हर वक्त किसी ना किसी चीज को लेकर तनाव बना ही रहता है । लगातार तनाव में रहने से मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ता है । डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन, हाई ब्लड प्रेशर इत्यादि बीमारियां तनाव की देन हैं। ऐसे में जरूरत है कि अपने खान-पान में कुछ बदलाव लाएं। कई ऐसी चीजें उपलब्ध हैं, जिनको अपनी डाइट में शामिल करने से तनाव के कारण होने वाले नुकसान को रोका जा सकता है ।

केला : पीला ‘चीनी’ और हरा ‘सिंगापुरी’ केला पोटेशियम और काबरेहाइड्रेट के बेहतरीन स्त्रोत हैं। ये हमारे शरीर में काबरेहाइड्रेट सेरोटीन नाम का न्यूरोट्रांसमीटर पैदा करते हैं, जो दिमाग को शांत करता है। तनाव को न्यूनतम करने के लिए प्रतिदिन दो केले अवश्य खाएं।

बाजरा: इसमें कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। अनुसंधान के अनुसार चिड़चिड़ाहट का कारण शरीर में कैल्शियम की कमी होती है। रोज के खाने में इस्तेमाल होने वाले गेंहू के आटे में बाजरे का आटा मिला लें।

सेब: सेब में फॉस्फोरस और आयरन प्रचुर मात्रा में होता है, जिससे ऑक्सीडेटीव स्ट्रेस यानी तनाव कम होता है। इसके साथ शरीर की कोशिकाओं का भी निर्माण होता है, जो सामान्य तौर पर तनाव के वक्त घटती जाती हैं। प्रतिदिन एक सेब जरूर खाएं। इससे हमारे शरीर में फाइबर भी पहुंचता है।

आंवला: आयुर्वेद में आंवला सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला फल है। इसमें विटामिन सी होता है। तनाव से बचने के लिए प्रतिदिन दो आंवलों का सेवन करना चाहिए। आंवला ऐसा फल है, जिसके गुणकारी तत्व सूखने पर भी नष्ट नहीं होते हैं। इसका फायदा उठा कर इसे सुखा कर ऑफ सीजन के लिए संरक्षित कर लें । 

ओट:ओट  कॉलेस्ट्रोल कम करके हृदय रोगों की संभावनाओं को क्षीण कर देता है।  एक दिन में 3 बड़े चम्मच ओट खाएं। इसे दही, दाल, सलाद में मिला कर ले  सकते हैं। ब्रेकफास्ट में ओटमील लेना अच्छा विकल्प है।
 
कैमोमाइल: जब भी तनाव में हों, दूध की चाय के बदले कैमोमाइल टी लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्ट्रेस भगाएं, पौष्टिक खाएं