class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्वांतानामो जेल बंद करने की योजना को झटका

ग्वांतानामो जेल बंद करने की योजना को झटका

ग्वांतानामो बे जेल को बंद करने की राष्ट्रपति बराक ओबामा की कोशिशों को तब एक और झटका लगा जब अमेरिकी सांसदों ने अतिरिक्त राशि के आग्रह को नामंजूर कर दिया और कैदियों की रिहाई तथा उन्हें दूसरी जगह भेजे जाने की योजना को सीमित कर दिया।

न्याय विभाग और अन्य एजेंसियों के लिए राशि मुहैया कराने वाली सदन की विनियोग उप समिति ने दक्षिणी क्यूबा स्थित अमेरिकी नौसैनिक अड्डे की ग्वांतानामो बे जेल को बंद करने के लिए छह करोड़ अमेरिकी डॉलर के आग्रह को नामंजूर कर दिया।

सदन की विनियोग उप समिति ने अपने दायरे में आने वाली विभिन्न एजेंसियों के लिए वर्ष 2010 के लिए 64.4 अरब अमेरिकी डॉलर को मंजूरी प्रदान की, लेकिन ग्वांतानामो बे जेल के कैदियों की रिहाई के साथ शर्तें जोड़ दीं। इस विधेयक के चलते सरकार ग्वांतानामो बे जेल के बाकी 240 कैदियों में से किसी को भी रिहा नहीं कर पाएगी और न ही उन्हें दूसरे देशों में भेज पाएगी। ऐसा तब तक जारी रहेगा जब तक कि प्रशासन कांग्रेस के समक्ष एक योजना पेश नहीं करता।

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 22 जनवरी वर्ष 2010 तक ग्वांतानामो बे जेल को बंद करने की बात कही है। लेकिन समिति का यह निर्णय उनके लिए एक नया रोड़ा बन गया है। अभी तक पचास कैदियों को रिहा घोषित कर दिया गया है, लेकिन अमेरिका के अलावा अन्य देशों ने भी इन कैदियों को अपने यहां जगह देने पर अनिच्छा जाहिर की है। हालांकि फ्रांस ने अल्जीरिया के एक नागरिक जबकि इथोपिया में जन्में ब्रिटेन निवासी एक अन्य कैदी को ब्रिटेन ने अपने यहां जगह दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्वांतानामो जेल बंद करने की योजना को झटका