class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महासागर के ऊपर ही टूट गया होगा विमान

महासागर के ऊपर ही टूट गया होगा विमान

ब्राजील की सेना के विमान ने गत बुधवार एयर फ्रांस की उड़ान संख्या 447 का कुछ और मलबा ढूंढ निकाला, जबकि जांचकर्ताओं का ध्यान अब अटलांटिक महासागर के उपर प्रचंड तूफान के बीच से गुजरने के दौरान विमान के क्षतिग्रस्त हो जाने के पहलू पर केंद्रित हो गया है।

वहीं, ब्राजील के रक्षा मंत्री नेल्सन जोबिम ने कहा है कि इस बात की संभावना प्रतीत नहीं होती कि 228 यात्रियों को ले जा रहे एयर फ्रांस के विमान में कोई विस्फोट हुआ होगा।

खराब मौसम के चलते गहरे पानी में चलने वाली पनडुब्बियां अब मलबा मिलने के क्षेत्र तक अगले सप्ताह तक ही पहुंच सकेंगी। ये पनडुब्बियां विमान के ब्लैक बॉक्स को ढूंढ निकालने में अहम होंगी, जिसके जरिये उन सवालों के जवाब ढूंढे जा सकेंगे कि आखिर विमान गत रविवार दुर्घटनाग्रस्त क्यों हुआ।

फ्रांस के मुख्य शोधकर्ता ने उपकरणों की मौजूदगी के बावजूद सवाल उठाया कि क्या रिकार्डर वाले ब्लैक बॉक्स को महासागर के गहरे और दुर्गम तल में कभी ढूंढा भी जा सकेगा। ब्राजील के सैन्य पोत मलबा मिलने के क्षेत्र के करीब पहुंच रहे हैं। विमान के साथ आखिर क्या हुआ होगा, यह जानने के लिये जांचकर्ता अब विमान के स्वचलित संदेश पर ही निर्भर हैं।

जांचकर्ता विमान की प्रणालियां ठप्प पड़ जाने के विभिन्न कारण सुक्षा रहे हैं। जांच से परिचित उड्डयन उद्योग के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा कि एक पहलू यह भी है कि विमान आकाश में ही क्षतिग्रस्त हो गया होगा। विमान चालक ने दुर्घटना की रात स्थानीय समयानुसार रात 11 बजे एक मैन्युअल संदेश भेजा था, जिसमें कहा गया था कि वह सीबी क्षेत्र से गुजर रहा है। इसके मायने ये हैं कि विमान बिजली पैदा करने वाले बादलों, तेज हवाओं और बिजली के कड़कने के बीच से गुजर रहा था।

उधर, ब्रासीलिया से मिली खबर के मुताबिक ब्राजील के रक्षा मंत्री नेल्सन जोबिम ने कहा कि जहां मलबा दिखाई दिया है, वहां बडे¸ स्तर पर ईंधन के तैरते नजर आने के ये मायने हैं कि यह असंभव है कि विमान में कोई विस्फोट हुआ होगा या आग लगी होगी। लेकिन यह महज एक कल्पना भर है।

वह यह अनुमान निकाल रहे थे कि अगर विस्फोट हुआ होता या आग लगी होती तो उच्च आक्टेन ईंधन भी जल जाता। जोबिम ने कहा कि इस सब के बाद भी यह आकलन करने की अब भी कोई संभावना नहीं है कि दुर्घटना क्यों हुई होगी। उन्होंने कहा कि ब्राजील के साओ पेड्रो और साओ पाउलो के निकट 200 किलोमीटर की परिधि में तलाशी अभियान जारी है। जोबिम ने कहा कि जिस क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है वह ब्राजील के मुख्य क्षेत्र से करीब एक हजार किलोमीटर दूर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महासागर के ऊपर ही टूट गया होगा विमान