class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संतोष जनक नहीं हैं सिविल कार्य : आरडीडीइ

क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक चन्द्रकांत त्रिपाठी ने तोपचांची व बाघमारा के जेइइ को सिविल कार्य पूरा नहीं करने पर शोकॉज किया है। इनसे सात दिनों के भीतर स्पष्टीकरण मांगा है। 

जेईई पर कार्य पूरा नहीं कराने, कार्य की धीमी गति व सीमेंट की कमी दिखा कर कार्य रोकने का आरोप है। कहा कि जिले में सिविल कार्य की स्थिति ठीक नहीं है।  त्रिपाठी ने 15 जून तक सभी कार्य पूरा करने का निर्देश दिया है।  उन्होंने जिले में सिविल कायरे में हुए खर्च की जानकारी सात दिनों के भीतर देने को कहा है। कहा कि खर्च से अधिक राशि निकालनेवाले अधिकारियों पर एफआईआर होगी।  सरकार के सचिव ने राज्य भर के स्कूलों में चल रहे मध्याह्न भोजन के  संचालन के लिए एक टीम बनायी है।

टीम ने सभी जिलों से स्कूल में चल रहे मध्याह्न भोजन की स्थिति पर रिपोर्ट मांगी है।  उन्होंने विद्यालय खुलने के बाद सात दिनों के भीतर वार्षिक परीक्षा में शामिल नहीं होने वाले और लंबे समय से नहीं आने वाले बच्चे का नाम उपस्थिति पंजी से काटने का निर्देश दिया है। कहा कि बहुत से बच्चों का नामांकन दो विद्यालयों में दर्ज है। जिससे पारा शिक्षकों की संख्या और मध्याह्न भोजन का खर्च बढ़ाया जा रहा है। त्रिपाठी ने 15 जून तक पारा शिक्षक संविदा का नवीनीकरण करने का निर्देश दिया है। आदेश नहीं मानने वाले शिक्षकों पर अविलंब कार्रवाई करने की बात कहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संतोष जनक नहीं हैं सिविल कार्य : आरडीडीइ