class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शांतनु अपहरण कांड में राहुल रिमांड पर

शहर के आयरन अयस्क व्यवसायी और दुर्गापुर कौरंगोपाड़ा निवासी शांतुनू मुखर्जी के अपहरण कांड में पुलिस ने बुधवार को राहुल सिंह को दुर्गापुर कोर्ट में चालान किया और दस दिनों के रिमांड पर लिया। इसके साथ ही उसके सहयोगी अजित कुमार मुंशी का बयान मजिस्ट्रेट के सामने कलमबंद कराया गया। राहुल को लातेहार (झारखंड) से गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि इस कांड में अब तक कुल 16 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं।
 
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उत्पल कुमार नस्कर ने कहा कि इस अपहरणकांड में पुलिस की एक और सफलता मिली है। लेकिन जांच पड़ताल की वजह से ज्यादा कुछ बताना अभी मुनासिब नहीं है। कोयलांचल में घटी अपहरण की घटनाओं की जांच के लिए वरीय पुलिस अधिकारियों की विशेष टीम गठित की गयी थी। लोहा व्यवसायी  मुखर्जी का अपहरण तीस दिसम्बर, 08 को किया गया था और 22 दिन के बाद वह 21 जनवरी को वापस लौटे थे। उनके परिजनों ने उनके वापसी के पीछे फिरौती राशि को मुख्य कारण बताया था। हालांकि उन्होंने इसका खुलासा नहीं किया था। उनकी वापसी के बाद पुलिस अधिकारियों ने उनसे लंबी पूछताछ की थी और उसी के आधार पर जांच चल रही थी। इस मामले में 16 आरोपी पहले गिरफ्तार किये जा चुके हैं।


जांच में मिले तथ्यों के आधार पर भागलपुर निवासी राजेन्द्र प्रसाद सिंह के पुत्र राहुल कुमार सिंह की तलाश काफी दिनों से चल रही थी। उसे पुलिस टीम ने लातेहार से गिरफ्तार किया गया था। उसके साथ वहीं के निवासी अजय कुमार मुंशी को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बुधवार को मजिस्ट्रेट के सामने उसका बयान कलमबंद कराया। यह स्पष्ट नहीं है कि उसे सरकारी गवाह बनाया गया है या स्वतंत्र गवाह बनाया गया है। राहुल से पूछताछ के बाद नये सुराग मिलने की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शांतनु अपहरण कांड में राहुल रिमांड पर