class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंडेक्स फंड

उतार-चढ़ाव के दौर में स्टॉक में निवेश करना जोखिम भरा है। जहां एक दिन बाजर में तेजी आती है, तो दूसरे दिन वहां गिरावट देखने को मिलती है। कुछ सावधानी बरत कर बाजर में निवेश किया जए, तो आपको बेहतर रिटर्न मिल सकते हैं।

इस दौर में अपने आकस्मिक फंड या रिटायरमेंट के पैसे  को शेयर बाजर में निवेश न करें क्योंकि आकस्मिक फंड या रिटायरमेंट के पैसों का निवेश सामान्यतः अल्पावधि के लिए किया जता है। यह ध्यान रखें कि इस समय उस पैसे को ही निवेश करने में भलाई है जो आप वहन कर सकें। इस में कोई दोराय नहीं कि वित्तीय बाजर में निवेश में हमेशा अस्थिरता रहती है। कभी-कभार इस अस्थिरता का स्तर सीमा से ज्यादा हो जता है, और कभी उतार-चढ़ाव एक निश्चित सीमा में ही देखने को मिलता है। इसलिए निवेशक सदा यह सलाह देते हैं कि निवेश लांग टर्म में करना चाहिए, जिससे आप बाजर में रोजना होने वाली उठा-पटक से परेशान नहीं होंगे। इस दौर में आपके पास कुछ सुरक्षित विकल्प हैं। इनमें इंडेक्स फंड प्रमुख है।

इंडेक्स फंड की प्रसिद्धि तेजी से बढ़ रही है। इनकी कीमत कम होती है, साथ ही डायवíसफाइड इंस्ट्रमेंट होती है। इंडेक्स फंड पूरी तरह से मैनेज होते हैं और पूंजी को सुरक्षित रखने में मददगार होते हैं। इंडेक्स फंड, इंडीविजुअल निवेशक के लिहाज से फायदेमंद होते हैं। इनकी ट्रेडिंग स्टॉक की तरह ही रोजना होती है। ऐसे में इंडेक्स फंड किसी निवेशक को बिना जोखिम के कम कीमत का क्वालिटी पोर्टफोलियो बनाने का अवसर देते हैं। स्टॉक चुनते समय यह ध्यान रखें कि उनका ट्रेक रिकॉर्ड लंबा हो।

इंडेक्स फंड पूंजी को सुरक्षित रखने में मददगार होते हैं।

इस दौरान बाजर में अपनी गाढ़ी कमाई को सुरक्षित माध्यम में ही निवेश करें।

उतार-चढ़ाव के इस दौर में बाजर में लांग टर्म में ही निवेश करना बेहतर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंडेक्स फंड