class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खीरी के कोरइया गाँव पहुँचे डीजीपी, पुलिसिया लापरवाही की बात कबूली

डीजीपी विक्रम सिंह ने लखीमपुर-खीरी जिले के कोरइया संजर गाँव में दलित युवक की हत्या के मामले में हल्का दरोगा समेत दो पुलिस कर्मचारियों को निलंबित कर दिया। बुधवार को घटना स्थल पर पहुँचे डीजीपी ने माना कि हत्याकाण्ड में पुलिस की लापरवाही रही है। उन्होंने जिला पुलिस को 48 घंटे में हत्यारों को गिरफ्तार करने का समय दिया। साथ ही मामले की जँच के आदेश दिए।
कोरइया संजर गाँव में सोमवार की रात 20 वर्षीय दलित अजरुन की हत्या के मामले में डीजीपी घटना स्थल पर पहुँचे। मृतक के परिवारीजनों से बात की। पत्रकारों को बताया कि इस घटना की पृष्ठभूमि पिछले साल गाँव में आगजनी की एक घटना से जुड़ी है,जिसमें कार्रवाई न करना अभियुक्तों के मनोबल को बढ़ावा देना रहा। बुधवार की दोपहर करीब बारह बजे आईजी रेंज लखनऊ एके जन के साथ गाँव पहुँचे डीजीपी ने इस घटना के लिए पुलिस के आला अधिकारियों को फटकारा। हल्का दरोगा संजीव कुमार Þाीवास्तव व बीट आरक्षी रमाशंकर सिंह यादव को निलम्बित कर दिया।
उन्होंने 21 अप्रैल 2008 को हुई आगजनी की घटना में कार्रवाई न करने वाले अफसरों के खिलाफ जँच के आदेश दिए। साथ ही चेतावनी दी कि आगे से इस तरह की लापरवाही सामने आने पर गंभीर परिणाम होंगे। डीजीपी ने मृतक अजरुन के पिता जगदीश से भी मिले। कार्रवाई का आश्वासन दिया। अपना मोबाइल नम्बर दिया। परेशानी होने पर बात करने को कहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दलित हत्याकांड में दरोगा समेत दो सस्पेंड