class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकरियों को छात्र-शिक्षक अनुपात पता करने का निर्देश

मानव संसाधन विकास विभाग सूबे की बाकी बची दो हजार पंचायतों में भी शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया शुरू करेगा। ये वैसी पंचायतें हैं जिनमें वकेंसी नहीं रहने के कारण दूसरे चरण में बहाली की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई थी। जानकारी के मुताबिक पिछले साल सरकार ने जब लगभग 90 हजार शिक्षकों के नियोजन का निर्णय लिया गया था उस वक्त करीब  दो हजार पंचायतों में शिक्षकों के पद भरे हुए थे। यानी वहां कोई रिक्त नही थी।मगर अब कई जगहों से वकेंसी की रिपोर्ट मिल रही है। इसके मद्देनजर विभाग ने जिलों में तैनात संबंधित शिक्षा अधिकारियों को उन पंचायतों में सभी तरह के स्कूलों में छात्र-शिक्षक अनुपात का आकलन करने का निर्देश दिया है।

सरकार द्वारा पूर्व निर्धारित मानदंड के तहत प्रारम्भिक स्तर के स्कूलों में 40 छात्रों पर एक शिक्षक होना चाहिए। यदि किसी पंचायत में शिक्षकों की संख्या इससे कम पाई गई तो वहां की वकेंसी के आधार पर बहाली की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। दूसरे चरण की बहाली प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इसमें सिर्फ चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की डिग्रियों और प्रमाण पत्रों के सत्यापन का काम बाकी है। इसके लिए शिक्षा अधिकारियों को दूसरे राज्यों में भी भेजा गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो हजार पंचायतों में भी होगी बहाली