class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेहमां जो हमारा होता है..

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर हमलों के विरोध में पीयू के छात्र गांधीगीरी कर रहे हैं। मंगलवार को इसी कड़ी में पीयू कैंपस में सोपू अध्यक्ष बरींद्र सिंह ढिल्लों की अगुवाई में विदेशी छात्रों के सम्मान में समारोह का आयोजन किया गया। बरींद्र व उसके साथियों ने विदेशी छात्रों का आमंत्रित किया और गांधी भवन के समक्ष उन्हें फूलों का हार पहनाकर भाईचारा और शांति बढ़ाने की ओर एक सार्थक कदम बढ़ाया। इस तरह के सम्मान से विदेशी छात्र भी गदगद दिखे।


आपस में बातचीत के दौरान बरींद्र ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में जो कुछ भी हो रहा है, उसके पीछे कहीं न कहीं संवादहीनता है। ऐसे में इस तरह की घटनाओं से हमें सीख लेनी चाहिए। उन्होंने फॉरेन स्टूडेंट्स एसोसिएशन की अध्यक्ष सिमेन के सामने प्रस्ताव रखा कि दोनों संगठन सप्ताह या पखवाड़े में एक साथ बैठक कर कई मुद्दों पर बात करें, ताकि हम एक-दूसरे की संस्कृति को जाने-पहचाने और एक-दूसरे के करीब आएं। इस दौरान विदेशी छात्रों ने भी ऑस्ट्रेलिया के घटना की निंदा की और कहा कि इससे पूरे विश्व में उनकी थू-थू हो रही है। इस तरह की समस्या बेहद खतरनाक होती है और किसी भी राष्ट्र को इस दिशा में जल्द से जल्द कदम उठाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेहमां जो हमारा होता है..