class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चले थे सिपाही बनने, पहुंच गए हवालात

सेक्टर-26 स्थित पुलिस लाइन में चल रही भर्ती में मंगलवार को फिर फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। विडंबना यह है कि इस फर्जीवाड़े में चंडीगढ़ पुलिस की ट्रेनिंग ले रहा एक रिक्रूट भी गिरफ्तार किया गया है, जिसे महज सात दिनों बाद ही पासिंग आउट परेड में हिस्सा लेना था। नौ जून को वह चंडीगढ़ पुलिस में शामिल हो जाता और किसी न किसी थाने पर डयूटी शुरू करता लेकिन उसके लालच ने उसे अंधा बना दिया और उसके हाथ में लगभग आ चुकी नौकरी निकल गई। कुछ अधिकारियों का कहना था कि यह गलती तो बड़ी है, लेकिन इसके पीछे कारण सिर्फ इतना है कि रिक्रूट अनुभव की कमी के कारण जो गलती करने जा रहा था, उसकी गंभीरता नहीं समझ पाया। भर्ती के दौरान ही एक अन्य मामले में एक प्रतिभागी लंबाई बढ़ाने के लिए धोखा करते पकड़ा गया। उसने पैरों में रबर की गुल्ली लगा रखी थी।


उल्लेखनीय है कि मंगलवार को भर्ती की प्रक्रिया शुरू हुई। पुलिस का एक रिक्रूट दिनेश कुमार प्रवेश पत्र और तस्वीर की जांच के लिए लगाया गया। प्रक्रिया चल ही रही थी कि किसी अधिकारी की नजर इस स्थान पर पड़ी और जब उसने जांच की तो होश ही उड़ गए। सोमवार को फीजिकल टेस्ट पास कर चुका समीम खान फिर से दौड़ करने जा रहा था। वह सोमवीर के नाम पर दौड़ कर रहा था। यदि यह चाल सफल हो जाती तो एक अयोग्य प्रतिभागी चंडीगढ़ पुलिस के लिए चुन लिया जाता। रिक्रूट दिनेश कुमार से पूछताछ की गई और फिर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। इसी के साथ पता चला कि उसके तीन और साथी फर्जीवाड़े की तैयारी कर चुके हैं और दौड़ में घपला करने जा रहे हैं। उन्हें भी निशानदेही पर तुरंत कैद कर लिया गया। पकड़े गए आरोपियों में से चार सोमवीर, दिनेश, समीम खान और रिक्रूट दिनेश हरियाणा के जिंद के रहने वाले हैं, जबकि इनमें से एक सतिंदर पानीपत का रहने वाला है। इन सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 419, 420 और 120बी के तहत कार्रवाई की गई है। अधिकारियों का कहना है कि रिक्रूट को इस करनी की कड़ी सजा मिलेगी  और हो सकता है कि उसे बर्खास्त कर दिया जाए।

लंबाई बढ़ाने को धोखा
लंबाई कम होने की आशंका को देखते हुए एक रिक्रूट ने सभी की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश की। उसने दौड़ और कूद का चक्र पूरा करने के बाद अपने पैरों के नीचे आधा इंच लंबा रबर का टुकड़ा जोड़ लिया। यह टुकड़ा स्किन कलर का था इसलिए इसे आसानी से देखना मुश्किल था। लेकिन जब लंबाई नापनी शुरू हुई तो पकड़ में आ गया। हालांकि अधिकारियों का कहना था कि इसकी लंबाई पर्याप्त थी फिर भी उसने धोखा देने की कोशिश की। इस प्रतिभागी का नाम सतबीर है और वह सोनीपत का रहने वाला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चले थे सिपाही बनने, पहुंच गए हवालात