class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ से सुरक्षा के लिए विशेष बल, सूबे के विभिन्न स्थलों पर होगा तैनात

राज्य सरकार ने आगामी बाढ़ में संभावित कटाव की आशंकाओं के मद्देनजर ‘बाढ़ सुरक्षात्मक संघर्षात्मक बल’ का गठन किया है। इसकी कमान रिटायर इंजीनियर इन चीफ,  चीफ इंजीनियर और सुप्रीटेंडिंग इंजीनियर को सौंपी गई है। ये बाढ़ अवधि में विभिन्न संवेदनशील स्थलों पर तैनात रहेंगे और बाढ़ के समय तत्काल प्रभावित स्थल पर पहुंचेंगे। जल संसाधन विभाग ने मंगलवार को 9 सुरक्षात्मक बल गठित करने की अधिसूचना जारी कर दी।

कोसी नदी के लिए गठित बाढ़ संर्घषात्मक बल का मुख्यालय वीरपुर में होगा। रिटायर चीफ इंजीनियर ज्वाला प्रसाद इसके अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विमला प्रसाद सिंह, मुरलीधर सिंह, जूनियर इंजीनियर राघवेन्द्र सिंह व श्लोक कुमार के अलावा आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा मनोनीत एक राजपत्रित पदाधिकारी व संबंधित जिलाधिकारी द्वारा प्रतिनियुक्त चार-एक का होमगार्ड बल होगा।

विभाग ने कोसी के लिए भपटियाही व निर्मली में, महानंदा व गंगा के लिए भागलपुर व पूर्णिया के लिए मुख्यालय कटिहार में, भूतही कमला बलान व अधवारा समूह, बागमती, खिरोई व करेह के लिए दरभंगा में, बूढ़ी गंडक, बागमती व अन्य नदियों के लिए खगड़िया में, बागमती, बूढ़ी गंडक, अधवारासमूह व अन्य स्थानीय नदियों के लिए सीतामढ़ी में, गंडक (बांया), बूढ़ी गंडक, अधवारासमूह के लिए मुजफ्फरपुर में और गंडक (दायां) के लिए गोपालगंज में सुरक्षात्मक बल तैनात करने का निर्णय

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कटाव की विभीषिका से बचाने की पहल