class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन कब्जाने पहुंचे मनबढ़ों ने मचाया उत्पात

बच्छांव (रोहनिया) गांव में मंगलवार की दोपहर जमीन पर कब्ज करने आये मनबढ़ों ने काशीराम व उसकी पत्नी मन्नो देवी की जमकर पिटाई कर दी। पिटाई से मन्नो का पैर टूट गया है। यही नहीं, मनबढ़ों ने उनकी झोपड़ी में आग भी लगा दी। चीख-पुकार सुनकर ग्रामीणों ने ललकारते हुए मनबढ़ों को दौड़ा लिया और एक हमलावर को दबोच कर पेड़ से बांध दिया। जबकि शेष हमलावर वहां से भाग निकले। मौके पर पहुंची पुलिस ने पकड़े गए युवक को हिरासत में लेने के बाद मन्नो को इलाज के लिए भिजवा दिया।

बच्छांव निवासी तेजू का पट्टीदार दुब्बर से जमीन को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा है। चितईपुर-चुनार रोड पर मौजूद इस जमीन का पिछले दिनों ममता सिंह ने सट्टा (एग्रीमेंट) करा लिया। जमीन के एक हिस्से में दुब्बर का बेटा काशी अपनी पत्नी मन्नो और बेटे के साथ रहता है। काशी का आरोप है, जमीन बिकवाने वाले सतीश के साथ एक दजर्न लोगों को लेकर तेजू 11 बजे मेर घर पहुंचा और मेरी व पत्नी की पिटाई शुरू कर दी। इन लोगों ने जमीन पर गिरी मन्नो का पैर इस तरह उमेठ दिया कि हड्डी टूट गई। फिर हमें कच्चे मकान में बंद कर तोड़फोड़ शुरू कर दी।

गांव वालों को जुटता देख हमलावरों ने हमें कमरे से बाहर निकाला और सामने की मड़ई में आग लगाकर भागने लगे। हमलावरों में शामिल तेजू के दामाद विजय को ग्रामीणों ने पकड़कर पीटने के बाद पेड़ से बांध दिया। बुजुर्गों के समझने पर विजय को पेड़ से खोल दिया, लेकिन वहीं बैठा लिया। सूचना मिलने पर पुलिस के साथ फायर बिग्रेड पहुंची, लेकिन तब तक आग बुझ चुकी थी। पुलिस विजय को हिरासत में लेकर शेष हमलावरों की तलाश कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दलित की झोपड़ी फूंकी, महिला का पैर तोड़ा