class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घाटों पर दिनभर चलता रहा दान-पुण्य का सिलसिला

गंगा दशहरा पर मंगलवार को हजरों श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई। अवतरण दिवस पर मां गंगा का षोडशोपचार पूजन तथा दीपदान व फलदान किया गया। गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही। स्नान के पश्चात दिनभर दान-पुण्य का सिलसिला चलता रहा। गंगा दशहरा पर दर्शन-पूजन करने के लिए आज काशी विश्वनाथ मंदिर समेत अन्य मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही।

गंगा घाटों पर आज प्रात: से ही श्रद्धालुओं के आने और स्नान करने का सिलसिला शुरू हो गया था, जो दोपहर तक चलता रहा। सर्वाधिक भीड़ दशाश्वमेध घाट, डा. राजेन्द्र प्रसाद घाट, प्रयाग घाट,अहिल्याबाई घाट, शीतला घाट, पंचगंगा घाट, सिंधिया घाट, गाय घाट, राज घाट, प्रह्लाद घाट, अस्सी घाट पर रही। मान्यता है कि गंगा दशहरा के दिन गंगा स्नान करने से दस प्रकार के पापों से मुक्ति मिल जाती है।

आज घरों में पूड़ी-खीर के साथ ही विविध प्रकार के पकवान बनाये गये। आचार्य वेदप्रकाश मिश्रा के अनुसार गंगा दशहरा पर आज अपूछ मुहूर्त होने के कारण बहुओं और नवजत शिशुओं को भी गंगाजल का स्पर्श कराया गया। मणिकर्णिका घाट पर पूर्व सभासद संतोष शर्मा के नेतृत्व में दीपदान व गंगा पूजन किया गया। सत्य प्रचार मंडल की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में राजू तिवारी, सुरेश पाठक, किशन तिवारी, लखन गुरु आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगा दशहरा पर हजारों ने लगाई डुबकी