class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वास्थ्य विभाग की ओर से संवेदनशील इलाकों में सर्वे प्रोग्राम चलाया जा रहा है।

मलेरिया के संवेदनशील इलाके से मामले आने शुरू हो गए हैं। जनपद में अबतक मलेरिया के 40 पॉजिटिव मामले आ चुके हैं। मामले की गंभीरता को समझते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से संवेदनशील इलाके में सर्वे प्रोग्राम चलाया जा रहा है। जनपद के गढ़मुक्तेश्वर,लोनी,सिंभावली और धौलाना मलेरिया के लिए काफी संवेदनशील हैं। जनवरी से लेकर मई माह तक इन जगहों से मलेरिया के 40 पोजटिव मामले आ चुके हैं।

इसके कारण स्वास्थ्य विभाग काफी परेशान है। मलेरिया की रोकथाम के लिए विभाग इन चारों स्थानों पर सर्वे प्रोग्राम चला रही है। मलेरिया विभाग के अधिकारी डा.ज्ञानेंद्र मिश्रा के अनुसार सीएचसी और पीएचसी पर पीबीपीएफ (मलेरिया जंच किट) किट उपलब्ध कराई ज रही है ताकि अगर किसी को दस दिन से बुखार है तो मलेरिया किट द्वारा इसकी तत्काल जांच की जाएगी। अगर मरीज को मलेरिया होगा तो मौके पर ही इलाज कर दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि संवेदनशील इलाके में दवाओं का भी लगातार छिड़काव किया ज रहा है। इसमें स्वास्थ्य केंद्रों के एएनएम,आशा के अलावा मलेरिया विभाग के मोबाइल टीम की भी सहायता ली जएगी। सोमवार को भी मलेरिया विभाग की ओर से चिरंजीव विहार और भोपूरा में दवा का छिड़काव कराया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जनपद में मिले मलेरिया के 40 पॉजिटिव मामले