class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिली जुली संस्कृति से बढ़ी ब्रिटिश समाज में हिंसाः फ्लिंटाफ

मिली जुली संस्कृति से बढ़ी ब्रिटिश समाज में हिंसाः फ्लिंटाफ

आल राउंडर एंड्रयू फ्लिंटाफ ने ब्रिटेन में प्रवासियों की बढ़ती संख्या की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि मिलीजुली संस्कृति वाले समाज की वजह से ही देश में हिंसक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि फ्लिंटाफ ने कहा कि वह मिली जुली संस्कृति के खिलाफ नहीं हैं लेकिन ऐसे समाज को बढ़ावा देते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मुझे ऐसे समाज से कोई दिक्कत नहीं है। मेरा मानना है कि यह उस देश के लिए फायदेमंद होता है लेकिन आपको सावधानी बरतनी होगी कि आप इसे किस स्तर तक लेते हैं। उन्होंने कहा कि उस वक्त मुझे काफी चिंता होती है जब मैं अपने देश में किसी होटल रिसेप्सनिस्ट को फोन करता हूं और वह मेरी बात नहीं समझ पाता क्योंकि वह अंग्रेजी नहीं जानता।

फ्लिंटाफ ने ब्रिटिश समाज में बढ़ रही हिंसा के लिए बीयर बार और रैप म्यूजिक को भी जिम्मेदार ठहराया है। खुद तीन बच्चों के पिता फ्लिंटाफ ने कहा कि जब मैं मैनचेस्टर शहर को शुक्रवार रात में देखता हूं तो यह सोचकर दंग रह जाता हूं कि अगर मेरी बेटी भी आगे चलकर किसी बार में जाए तो क्या होगा।

उन्होंने कहा कि यह ऐसी जगह है जहां अब मैं नहीं जाता हूं। ऐसी जगहों पर चाकूबाजी, बोतलें फेंकने और गोलीबारी की घटनाएं आम हो गई हैं। आखिरकार इस देश को क्या हो गया है। मेरा मानना है कि रैप म्यूजिक इसके लिए जिम्मेदार है। इसका संगीत दिमाग को सुकून नहीं पहुंचाता है बल्कि और भी हिंसक बना देता है। इसी वजह से मेरा मानना है कि खेलों का हमारे समाज में अहम स्थान है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'सांस्कृतिक असंतुलन से बढ़ी ब्रिटेन में हिंसा'