class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल को मिल सकती है आईसीसी के कैलेंडर में जगह

बेशुमार दौलत से भरपूर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की ओर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के बढ़ते झुकाव के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अपने कैलेंडर में टी20 टूर्नामेंट को खास जगह देने पर विचार कर रहा है।

हालांकि आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हारुन लोर्गाट ने कहा कि ऐसा होना वर्ष 2012 तक के दौरा कार्यक्रम एफटीपी के बाद ही संभव है। उन्होंने कहा कि हम इन सारे विषयों पर विचार करेंगे। हम 2012 के बाद के कार्यक्रमों पर विचार कर रहे हैं और इस दौरान हम यह भी देखेंगे कि सही क्या है। लेकिन किसी घरेलू टूर्नामेंट के लिए ऐसा करना आसान नहीं है क्योंकि यह मौजूदा एफटीपी में शामिल नहीं है।

लोगार्ट ने यह भी कहा कि यदि एक घरेलू कार्यक्रम को इसमें स्थान मिला तो अन्य देश भी इसी रास्ते चल पड़ेंगे और आईसीसी को इससे निपटना मुश्किल हो सकता है। उन्होंने कहा कि यदि आप एक घरेलू टूर्नामेंट के लिए ऐसा करेंगे तो अन्य का क्या होगा। कई दूसरे देश भी इसके दावेदार उठ खड़े होंगे। वैसे एफटीपी का निर्धारण आईसीसी के सदस्य देश अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों के लिए करते हैं।

उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि अधिकतर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी अपने देश का प्रतिनिधित्व टेस्ट और सीमित ओवरों के क्रिकेट में करते हैं लेकिन यह भी स्वीकार किया कि आईपीएल की ओर से पेशकश मिलने पर ये खिलाड़ी उस ओर झुक जाते हैं।

लोर्गाट ने कहा कि कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जो खूब पैसा कमाना चाहते हैं और कुछ ऐसे भी हैं जो पैसे के साथ साथ देश के प्रतिनिधित्व करने के बीच संतुलन स्थापित करना चाहते हैं। वैसे सभी को यह समझना चाहिए कि माहौल बदल रहा है।

आईसीसी प्रमुख ने कहा कि टी20 क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीमित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि इस खेल का अंतरराष्ट्रीय के मुकाबले घरेलू स्वरुप अधिक होना चाहिए। टेस्ट क्रिकेट अब भी इस खेल का स्तंभ है और मेरा मानना है कि 50 ओवरों के मैच भी अभी जीवित हैं। वैसे मैं यह मानता हूं कि टी20 क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल को मिल सकती है आईसीसी कैलेंडर में जगह