class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाओं को उम्मीद

देश के सर्वोच्च पद पर राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद लोकसभा अध्यक्ष जसे महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी किसी महिला को सौंपना निश्चय ही महिलाओं के सम्मान को बढ़ाना है। स्पष्ट है कि राजनीति में महिलाओं का कद बढ़ रहा है। बिहार के सासाराम से सांसद मीरा कुमार का नाम लोकसभा अध्यक्ष के लिए लगभग तय है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता स्व. जगजीवन राम की सुपुत्री मीरा कुमार पांच बार सांसद रहते हुए सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मादारियां निभा चुकी हैं। उम्मीद है कि वह सदन को शांतिपूर्वक चलाने का दायित्व भी बखूबी निभा पाएंगी। पहली बार किसी महिला को सदन के संचालन की जिम्मेदारी देने के पीछे भले ही राजनीतिक कारण रहे हों, लेकिन इतना तो तय है कि महिलाओं के काम की कद्र हो रही है। महिला सशक्तीकरण की दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं। पन्द्रहवीं लोकसभा में पहली बार महिला सासंदों का दस फीसदी का आंकड़ा पार करना जबर्दस्त उपलब्धि है। आजदी के बाद यह पहला ऐसा आम चुनाव है, जिसमें महिलाएं इतनी मजबूत होकर उभरी हैं। हालांकि आजदी के छह दशक बाद संसद में महिलाओं का यह आंकड़ा अच्छा तो नहीं कहा ज सकता, पर स्थिति में कुछ सुधार तो हुआ है। इस बार लोकसभा में सोनिया गांधी, मायावती और ममता बनर्जी जसी तीन पार्टी प्रमुख हैं तो मीरा कुमार, कृष्णा तीरथ और शैलज जसी जुझरु नेत्रियां भी हैं जो प्रमुख पदों पर आसीन हैं। भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज और एक ही सीट से लगातार सात बार चुनाव जीतने वाली सुमित्रा महाजन की अपनी एक पहचान है। लोकसभा के उपाध्यक्ष का पद सुमित्रा महाजन को देने की चर्चा है। अगर ऐसा हुआ तो संसद के इतिहास में पहली बार लोकसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर महिलाएं विराजमान होंगी। देश की आधी आबादी तो फा महसूस करेगी ही, संभव है कि सांसदों के आचरण में भी सुधार हो। महिलाओं की इस जीत ने यह जता दिया है कि देश की जनता महिला नेताओं पर भरोसा करती है और काम के मामले में भी वे किसी से कम नहीं हैं। इस उपलब्धि को देखते हुए महिलाओं को उम्मीद है कि महिला आरक्षण विधेयक को पास करने में अब विलंब नहीं होगा। सोनिया गांधी स्वयं संसद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने के पक्ष में हैं। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा भी महिला आरक्षण का समर्थक है तो फिर देर किस बात की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिलाओं को उम्मीद