class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांग्लादेश में सक्रिय है दाऊद: अखबार

बांग्लादेश में सक्रिय है दाऊद: अखबार

भारत में वांछित अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम और उसका निकट सहयोगी छोटा शकील बंगलादेश में 150 एजेंटों का नेटवर्क चला रहे हैं और इन्हें हर महीने बकायदा वेतन दिया जाता है। बांग्लादेश के डेली स्टार में इस आशय की रिपोर्ट प्रकाशित हुई है।

बंगलादेश के समाचार पत्र डेली स्टार में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार टी सीरीज कंपनी के मालिक गुलशन कुमार की हत्या में सजायाफ्ता अब्दुर रऊफ दाऊद मर्चेंट ने बातचीत में स्वीकार किया है कि उसने 50 हजार टका खर्च कर एक ब्रोकर के जरिए फर्जी पासपोर्ट हासिल किया था।

दाऊद मर्चेट ने कहा दाऊद का निकट सहायोगी एवं वर्तमान में दुबई में रह रहे छोटा शकील ने ही उसे बंगलादेश भेजा था और वहीं बंगलादेश में सक्रिय सभी एजेंटों को एक प्रतिभूति फर्म के द्वारा राशि भेजता है। मर्चेंट ने बंगलादेश में दाऊद का नेटवर्क स्थापित करने के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि मैं यहां पर केवल छुपने के लिए आया था और मैं यहां पर व्यापार शुरू करना चाहता था। इसीलिए मैंने यहां पर फर्जी पासपोर्ट और अन्य दस्तावेज हासिल किए ताकि मुझे मुम्बई से बाइक आयात करने का लाइसेंस मिल जाए।

मर्चेंट ने कहा कि मैंने कभी दाऊद से बात नहीं की, लेकिन मैं छोटा शकील के साथ लगातार संपर्क में रहा हूं। मुझे यह नहीं पता कि छोटा शकील और दाऊद इब्राहिम कभी बंगलादेश आए हैं अथवा नहीं। यह पूछे जाने पर कि उसने गुलशन कुमार की हत्या क्यों की, उसने कहा कि अनिल शर्मा नाम के व्यक्ति ने गुलशन कुमार की हत्या की थी। उस पर गलत आरोप लगाकर उसे इस हत्याकांड में फंसाया गया।

बंगलादेश पुलिस की खुफिया शाखा डीबी सूत्रों के अनुसार उन्होंने जाहिद और मर्चेंट को उनके मोबाइल फोन ट्रैक कर पहचाना और दोनों की गिरफ्तारी हिरासत में मौजूद जाहिद की महिला मित्र के साथ मोबाइल पर हुई बातचीत की मदद की गई। सूत्रों के अनुसार ब्रह्मनबारिया के मेयर हफीजुर रहमान ने मर्चेंट का जन्म एवं पंजीकरण दस्तावेज जारी किए थे। पार्षद मोहम्मद फारुक मियां ने यह प्रमाणित किया कि वह मर्चेंट को पिछले 10 वर्षों से जानते हैं। फोन पर संपर्क करने पर ब्रह्मनबारिया के मेयर ने कहा कि पार्षद और चिकित्सक के इस प्रमाण कि वे मर्चेंट को जानते हैं मैंने उसे जन्मप्रमाण पत्र जारी किए।

डीबी एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमें इस बात पक्का यकीन है कि दाऊद इब्राहिम के डेढ़ सौ से अधिक एजेंट बंगलादेश में सक्रिय हैं, जिन्हें छोटा शकील हर महीने बकायदा वेतन मुहैया कराता है। हम इस बात की भी जांच करेंगे कि मर्चेंट और भारतीय नागरिक जाहिद शेख को फर्जी बंगलादेशी पासपोर्ट कैसे मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बांग्लादेश में सक्रिय है दाऊद: अखबार