class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आव्रजन मुद्दे पर बातचीत को तैयार क्यूबा-यूएस

आव्रजन मुद्दे पर बातचीत को तैयार क्यूबा-यूएस

अमेरिका और क्यूबा आव्रजन मुद्दे पर बातचीत को फिर से शुरू करने तथा दोनों देशों के बीच सीधी संचार सेवा की पुर्नस्थापना को लेकर खुली चर्चा करने पर सहमत हो गए हैं।

अमेरिकी अधिकारियों ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि क्यूबा ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि वह नशीले पदार्थों और आतंकवाद की रोकथाम पर भी चर्चा करने का इच्छुक है।

अमेरिका द्वारा क्यूबा से राजनयिक संबंध तोड़ लिए जाने के बाद दोनों देशों के बीच दशकों तक इन मसलों पर यदा कदा ही बातचीत हुई है। इस बातचीत की तिथि अभी निर्धारित नहीं हुई है। इस बीच लैटिन अमेरिका की तीन दिवसीय यात्रा पर गई अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि यह बातचीत क्यूबा के साथ आगे बढ़ने के लिए शुरू की गई नई पहल का हिस्सा है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति ओबामा और मैं इस नए दृष्टिकोण पर आगे बढ़ने के लिए दृढसंकल्प हैं। हमारा विश्वास है कि इस मसले पर पिछले कई सालों में जितना विकास नहीं हुआ है उतना पिछले चार महीने में हुआ है। यह बातचीत अमेरिका और क्यूबा की आम जनता दोनों के हित में है।

हिलेरी रविवार को होन्डुरास की यात्रा पर जाएंगी जहां पर वह अमेरिकी देशों के संगठन (ओएएस) की बैठक में हिस्सा लेंगी। इस बैठक में शामिल ज्यादातर लैटिन अमेरिकी सदस्य देशों की इच्छा है कि क्यूबा को भी ओएएस की सदस्यता दी जाए। क्यूबा में फिदेल कास्त्रो के नेतृत्व में कम्यूनिस्ट सरकार के सत्ता में आने के बाद वर्ष 1962 में उसकी सदस्यता रद्द कर दी गई थी।

वहीं हिलेरी ने क्यूबा को ओएएस में शामिल किए जाने की किसी संभावना को नकार दिया। उन्होंने कहा कि अमेरिका क्यूबा पर नागरिकों के मूलभूत अधिकारों की बहाली, राजनीतिक कैदियों की रिहाई तथा लोकतांत्रिक सुधारों की तरफ क दम बढ़ाने के लिए दबाव डालता रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आव्रजन मुद्दे पर बातचीत को तैयार क्यूबा-यूएस