class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रफ्तार पर लगा ब्रेक

लोकमान्य तिलक सुपरफास्ट की रफ्तार फिर धीमी पड़ गयी। जनशताब्दी एक्सप्रस की रफ्तार पर तो ब्रेक लगा ही हुआ है। साथ ही बाकी ट्रेनों की चाल भी बिगड़ी हुई है। गर्मी की भीड़ को कम करने के लिए चलायी जा रही स्पेशल ट्रनें भी रुला रही हैं। 18 से 20 घंटे लेट पहुंच रही हैं स्पेशल ट्रनें। ट्रनों की लेटलतीफी महीनेभर से लगी हुई है। मगध, लोकमान्य,जनसाधारण व जनशताब्दी एक्सप्रस लगातार लेट चल रही हैं। बावजूद रल प्रशासन द्वारा इस ओर विशेष तवज्जो नहीं दिया जा रहा है। लेट भी ऐसी-वैसी नहीं। दस से पंद्रह घंटे तक लेट पहुंच रही हैं ट्रनें और इतनी ही लेट खुल भी रही हैं। शनिवार की देर रात मगध एक बजे आयी और रात दो बजे खुली। इससे गुस्साए यात्रियों ने दो नम्बर प्लेटफार्म पर हंगामा कर दिया। बाद में समझा-बुझाकर शांत कराया गया।ड्ढr ड्ढr 2141 लोकमान्य सुपरफास्ट मुंबई-पटना संडे को 14 घंटे लेट आयी। इस वजह से 2142 लोकमान्य सुबह 11 बजे के बदले रात 12.30 बजे 13.30 घंटे लेट विदा हुई। पिछले दो दिनों से इसकी रफ्तार सुधरी हुई थी। इसके पहले भी यह लगातार हफ्तेभर दस से पंद्रह घंटे लेट चल रही थी। दूसरी ओर शनिवार की रात पहुंचनेवाली 2023 जनशताब्दी 13 घंटे 40 मिनट लेट यानी संडे की सुबह पहुंची। 23श्रमजीवी चार घंटे लेट आयी तो 2402 मगध दो घंटे लेट पहुंची। मगध इस वजह से रात 8.10 बजे खुली। 3008 तूफान तीन घंटे, 3202 कुर्ला एक्सप्रस 100 मिनट, 2388 जनसाधारण 200 मिनट, 3287 दक्षिण बिहार एक्सप्रस दो घंटे, 5635 गुवाहाटी दादर भी दो घंटे लेट पहुंची। मुंबई स्पेशल 0141 तो 21 घंटे लेट चली। इस भीषण गर्मी में ट्रनों की धीमी चाल ने यात्रियों की बुरी गत बना दी है। यात्री इन ट्रनों से सफर करने में हिचकिचाने लगे हैं। जहां-तहां ट्रनें रुक जाती हैं। ऐसे-ऐसे स्टेशन पर गाड़ियां रुकती हैं जहां पानी भी नसीब नहीं हो पाता है। बच्चे बिलबिलाते रहते हैं। महिलाओं की परशानी कहने लायक नहीं रहती है। साथ ही ट्रेनों में पानी की भी किल्लत हो जाती है। यात्रियों को हाथ-पैर धोने के लिए भी पानी मयस्सर नहीं हो पाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रफ्तार पर लगा ब्रेक