class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंककर्मियों के साथ सौतेला व्यवहार

अखिल भारतीय बैंक अधिकारी महासंघ के अध्यक्ष वी. इस्वरन ने बताया कि केन्द्र सरकार बैंक कर्मचारियों की जायज मांगों पर उदासीन रवैया अपनाए हुए है तथा सौतेला व्यवहार कर रही है। उन्होंने बताया जहां एक ओर छठे वेतन आयोग की सिफारिश के चलते केन्द्र एवं राज्य सरकार के अधिकारियोंे एवं कर्मचारियों को वेतन एवं अन्य आर्थिक सुविधाओं में बहुत क्षाफा हुआ है, वहीं बैंक कर्मियों का वेतन समझौता लंबित पड़ा हुआ है। रविवार को बैंक ऑफ इंडिया ऑफिसर्स एसोसिएशन के वार्षिक अधिवेशन को संबोधित करते हुए श्री इस्वरन ने कहा कि बैंक कर्मियों के लिए पेंशन का दूसरा विकल्प एवं अनुकंपा के आधार पर नौकरी जसे मुद्दों पर सरकार उदासीन रवैया अपना रही है।ड्ढr ड्ढr इससे बैंककर्मियों में काफी असंतोष है। उन्होंने बताया कि तीन मांगों को लेकर यूएफबीयू के नेतृत्व में एआईबीओसी ने संगठानात्मक कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। श्री इस्वरन बताया कि 20 मई को जिला एवं राज्य स्तर रैली एवं प्रदर्शन होगा। 26 मई को विरोध बैज धारण कर शाखा स्तर पर संयुक्त प्रदर्शन किया जाएगा। 4 जून को राजधानी समेत महत्वपूर्ण शहरों में धरना एवं प्रदर्शन, 11 जून को रैली का आयोजन किया जाएगा। उसके बाद 12 जून को अखिल भारतीय हड़ताल पर रहेंगे बैंककर्मी। कार्यक्रम की अध्यक्षता भारत भूषण ने की जबकि संचालन सुनील कुमार ने किया। अधिवेशन में बैंक ऑफ इंडिया अधिकारी संघ, फेडरशन ऑफ बैंक ऑफ इंडिया अधिकारी संघ के राष्ट्रीय स्तर के नेताओं ने भाग लिया। इस अवसर पर हरविन्दर सिंह, एम.वाई.सिन्प्रे, विजय खर, रामेश्वर प्रसाद एवं बी.के. अग्रवाल सहित कई बैक अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बैंककर्मियों के साथ सौतेला व्यवहार