class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स में फिर 372 अंकों की गिरावट

धातु, आयल एंड गैस, रियलटी और इंजीनियरिंग क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में बिकवाली का दबाव रहने से देश के शेयर बाजारों में आज फिर मंदे का जोर रहा। बीएसई का सेंसेक्स 372 अंक और एनएसई का निफ्टी 170 अंक नीचे आए। अमेरिका के शेयर बाजारों में गत दिवस आई तेजी का अनुसरण करते हुए देश के शेयर बाजार सत्र की शुरुआत में खासी मजबूती में दिखे, किंतु दोपहर आते-आते बिकवाली के दबाव में आ गए। कारोबारियों का कहना है कि निवेशकों का भय अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। विदेशी निवेशकों की बिकवाली अपना दबाव बनाए हुए है। फैडरल रिजर्व के मंगलवार को ब्याज दरों में पौना प्रतिशत की कटौती किए जाने के बाद कल यहां शेयर बाजार काफी संभले थे। सत्र के शुरू में सेंसेक्स गत दिवस के 17507 अंक की तुलना में 170.अंक पर मजबूत खुला और ऊंचे में 18185.10 अंक तक चढ़ने के बाद बिकवाली के दबाव में दिखा और इस स्तर से 1115 अंक टूटकर नीचे में 17070.05 अंक तक गिरा और समाप्ति पर इसकी तुलना में करीब डेढ़ सौ अंक बढ़ने के बावजूद कुल 372.33 अंक अर्थात 2.12 प्रतिशत के नुकसान से 17221.74 अंक पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी 16अंक अर्थात 3.27 प्रतिशत के नुकसान से 5033.45 अंक रह गया। एशिया के प्रमुख शेयर बाजारों में हांगकांग का हैंगसैंग उतार चढ़ाव भरे कामकाज में 2.3 प्रतिशत नीचे आया। जापान का निक्केई औसतन 2.1 प्रतिशत ऊंचा रहा।बीएसई के सभी सूचकांकों में गिरावट का रुख रहा। मिडकैप और स्माल कैप क्रमश: 3.23 तथा 3.प्रतिशत के नुकसान में रहे। इंजीनियरिंग सूचकांक 838.65 अंक, धातु 860.32 अंक, रियलटी 467.85 और आयल एंड गैस 347.63 अंक नीचे आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंसेक्स में फिर 372 अंकों की गिरावट