class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टिकैत ने पूर दलित वर्ग का अपमान किया है : मायावती

मुख्यमंत्री मायावती ने कहा है कि महेन्द्र सिंह टिकैत ने सिर्फ उन्हें ही जााति सूचक अपशब्द नहीं कहे बल्कि पूर दलित वर्ग का अपमान किया है। दलित वर्ग स्वाभिमानी रहा है लेकिन आजादी के बाद भी कुछ लोगों की मानसिकता नहीं बदली है। सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय की बात को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि बसपा सरकार सभी वर्गो के हितों को ध्यान में रखकर चल रही है। उन्होंने कहा कि बसपा यदि राजनीति द्वेष की भावना से काम करती तो पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह जेल में होते। उन्होंने कभी राजनीतिक द्वेष की भावना से काम नहीं किया। मुख्यमंत्री बुधवार को मुरादनगर के हंस इंटर कॉलेज के मैदान में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रही थीं।ड्ढr मायावती ने कहा कि सरकार प्रदेश में भयमुक्त, भ्रष्टाचारमुक्त, विकासयुक्त समाज की स्थापना के प्रति समर्पित है। प्रदेश की जनता ने बसपा को पूर्ण बहुमत से जिताकर सपा को खुद ही सजा दे रखी है। प्रदेश का विकास बसपा की सरकार ही कर सकती है। अपराधियों को उनके किए की सजा मिलनी ही चाहिए इसलिए उन्होंने अपनी ही पार्टी के सांसद उमाकांत यादव को भी जेल भिजवाने का काम किया। उन्होंने सपा के अलावा कांग्रेस, भाजपा व अन्य विरोधी दलों को आड़ेे हाथ लेते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता की चिंता नहीं बल्कि अपने विकास की चिंता है।ड्ढr प्रदेश की बिगड़ी आर्थिक स्थिति के लिए पूर्व सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए मायावती ने कहा कि विरासत में मिले र्को को ही अभी तक उतारा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आजादी के 60 साल बाद भी उत्तर प्रदेश की जनता के साथ न्याय नहीं किया गया। मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा दलितो को वोट के रूप में इस्तेमाल किया, कभी उनको सामाजिक हिस्सेदारी देने का काम नहीं किया। आज जब दलित वोटर बसपा की नीतियों को समझकर उनके साथ है तब कांग्रेस को उनकी याद आई है। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह द्वारा उनको लेकर की गई चुटकी के मामले में स्पष्ट किया कि राजनाथ सिंह ऐसी चुटकियों से बाज आएँ। मेर बार में ली गई चुटकी उन्हें कहीं महंगी न पड़ जाए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टिकैत ने पूर दलित वर्ग का अपमान किया है : मायावती