class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं बदलेगा मशाल रैली रूट

राष्ट्रीय ओलम्पिक समितियों के वैश्विक संगठन (एएनओसी) ने बुधवार को घोषणा की कि बीजिंग ओलम्पिक मशाल का अंतरराष्ट्रीय रिले मार्ग नहीं बदला जाएगा। ओलम्पिक समितियों की तीन दिन की बैठक के बाद जारी घोषणापत्र में तिब्बत का संदर्भ हटा दिया गया है। भारत सहित दुनिया भर की 205 ओलम्पिक समितियों की बैठक के बाद सदस्यों ने कहा कि घोषणापत्र में तिब्बत के संदर्भ का मतलब चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप होगा। उधर, चीन ने साफ कर दिया है कि वह मशाल को तिब्बत के शांतिपूर्ण इलाकों में ले जाएगा। इस बीच, संकेत हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ओलम्पिक खेलों के उद्घाटन सत्र में भाग नहीं लेंगे।ड्ढr जुलूस में नहीं दौड़ेंगी किरण बेदी राहुल पर असमंजसड्ढr नई दिल्ली (विसं)। भारत में भी ओलम्पिक मशाल दौड़ विवादों में घिरती जा रही है। मैगसेसे पुरस्कार विजेता किरण बेदी ने इस दौड़ में शामिल होने से इनकार कर दिया है। कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी इस दौड़ में शरीक होंगे या नहीं, इस बात पर असमंजस है। ओलम्पिक मशाल दौड़ में भाग लेने के लिए राहुल गांधी के साथ-साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद और सचिन पायलट को भी निमंत्रण मिलने वाला है। कांग्रेस प्रवक्ता जयंती नटराजन ने पूछे जाने पर सिर्फ इतनी सफाई दी कि यह ऐसा मसला है, जिस पर राहुल गांधी को ही फैसला करना है। उन्होंने और दूसरे कांग्रेस नेताओं ने बार-बार यही कहा कि वे इस मसले पर कोई टिप्पणी नहीं करंगे। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नहीं बदलेगा मशाल रैली रूट