class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी डाक्टर सर्जरी की ट्रनिंग लेने राजधानी पहुंचा

देश में कैंसर रोग के इलाज के लिए महत्वपूर्ण संस्थान के रूप में प्रसिद्ध महावीर कैंसर संस्थान में अब विदेशी चिकित्सक भी प्रशिक्षण लेने पहुंचने लगे हैं। इसी क्रम में इटली मूल के डाक्टर कॉलिजिनो शार्टिनो इस संस्थान में श्वास नली में होने वाले कैंसर के सर्जरी की ट्रेनिंग लेने पहुंचे हैं। वे तीन सप्ताह तक यहां संस्थान के चिकित्सकों के साथ सर्जरी की विद्या हासिल कर अपने देश लौट जाएंगे। बुधवार को हिन्दुस्तान से एक खास बातचीत में इटली के मिलान के निवासी डा. शार्टिनो ने कहा कि वे महावीर कैंसर संस्थान में कैंसर रोग की हो रहे मानक इलाज से पूरी तरह संतुष्ट हैं।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि वे इस रोग की सर्जरी को सीखने के लिए पेरिस, रुस सहित कई देशों का भ्रमण कर चुके हैं पर इस संस्थान में मरीाों की संख्या अधिक होने से ट्रेनिंग का अच्छा मौका मिलेगा। पहली बार पटना पहुंचे विदेशी मेहमान ने कहा कि इटली में श्वास नली के कैंसर से पीड़ित रोगियों की तादाद अन्य प्रकार के कैंसर रोगों से अधिक है। यही वजह है कि वे यहां प्रशिक्षण लेने में दिलचस्पी ले रहे हैं। संस्थान के चिकित्सकों की मिल रही सहायता से उन्हें पूरा विश्वास है कि वे अगले तीन सप्ताह में श्वासनली के कैंसर की सर्जरी सीख लेंगे। उन्हें प्रशिक्षण लेने का धुन इस कदर सवार है कि वे किसी होटल में न रह कर संस्थान में रह रहे हैं।ड्ढr ड्ढr वहीं दूसरी तरफ संस्थान के निदेशक डा. जितेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि डा. शार्टिनो संस्थान के तत्वावधान में पिछले दिनों हुए हेड एण्ड नेक कैंसर सम्मेलन में शामिल होने यहां पहुंचे थे उसके बाद जब उन्होंने देखा कि श्वास नली कैसर सर्जरी की यहां सभी सुविधाएं मौजूद हैं तो वे यहां रूक गए। उन्होंने कहा कि अभी वे एक भी ऑपरशन तो नहीं किए हैं पर लगातर संस्थान के चिकित्सकों के संपर्क में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विदेशी डाक्टर सर्जरी की ट्रनिंग लेने राजधानी पहुंचा