class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोगी ‘लवेरिया’ के, सिरदर्द बढ़ा पुलिस का

प्रेमी युगल घर से फरार और थाने में युवतियों के अपहरण की प्राथमिकी दर्ज। अनुसंधान में लगी पुलिस। वहीं परिजन आलाधिकारियों से मुख्यमंत्री के जनता दरबार तक पहुंच कर अपहृत लड़की की बरामदगी की गुहार लगाते हैं। नतीजतन पटना पुलिस का सिरदर्द बढ़ जाता है। पिछले छह दिनों के अंदर प्रमी युगलों से संबंधित ऐसे सात मामले सामने आये जिनके अनुसंधान में पुलिस को नाको चने चबाने पड़े।ड्ढr ड्ढr कंकड़बाग हाउसिंग कॉलोनी निवासी सुमंती देवी ने बेटी के अपहरण की प्राथमिकी मसौढ़ी थाने में दर्ज कराने के बाद मुख्यमंत्री के जनता दरबार में गुहार लगाई। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने बीते मंगलवार को लड़की को उसके प्रमी के साथ खाजेकलां इलाके से पकड़ा। हालांकि बेटी ने अपहरण को गलत बताते हुए प्रमी फौजदारी साव के साथ स्वेच्छा से जाने की बात कही और मां पर ही गंभीर आरोप लगाये। 7 अप्रैल की रात पटना जंक्शन पर पकड़े गये नालंदा जिले के बसनियावां गांव के प्रमी युगल की भी यही कहानी है। गुलजारबाग स्टेशन पर 4 अप्रैल को धराये युवक चंदन और युवती के अपहरण का मामला एक दिन पहले आलमगंज थाने में दर्ज हुआ था। छानबीन में पता चला कि दोनों ने शादी भी कर ली। पिछले सप्ताह आशिक और माशूका के घर से भागने के बाद सुल्तानगंज थाने में अपहरण की सूचना परिजनों ने दर्ज कराई। अगले ही दिन 5 अप्रैल को बुद्धा कॉलोनी के दुजरा मुहल्ले से युवती को उसका प्रमी मोटरसाइकिल से लेकर भाग निकला और मामला थाने में दर्ज हुआ।ड्ढr ड्ढr दरअसल मुहब्बत की अंधी डगर पर शादीशुदा महिलाएं भी पीछे नहीं है। बक्सर जिले के बासुदेवा गांव स्थित ससुराल से शादी के महज एक सप्ताह बाद ही एक नवविवाहिता अपने प्रमी रंगनाथ के साथ भाग निकली। अपहरण का मामला दर्ज हुआ हालांकि दोनों को जक्कनपुर थाने की पुलिस ने 4 अप्रैल की रात पति-पत्नी के रूप में रहते पकड़ा। कुछ समय पूर्व मनेर से भागी शादीशुदा महिला 8 अप्रैल को दानापुर में अपने आशिक के साथ पक ड़ी गई। करीब दो वर्ष पूर्व उसकी शादी हुई थी। इन घटनाओं से स्थिति का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोगी ‘लवेरिया’ के, सिरदर्द बढ़ा पुलिस का